सौभाग्य से बिजली चोरी रोकने की कवायद, नौ लाख उपभोक्ताओं से वसूल होगी योजना की राशि

Gaurav Sen

Publish: Jan, 14 2018 11:58:41 AM (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
सौभाग्य से बिजली चोरी रोकने की कवायद, नौ लाख उपभोक्ताओं से वसूल होगी योजना की राशि

मध्य क्षेत्रीय विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी रीजन में 'सौभाग्य' योजना के तहत ऐसे उपभोक्ताओं को जोडऩे जा रही है

ग्वालियर। मध्य क्षेत्रीय विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी रीजन में 'सौभाग्य' योजना के तहत ऐसे उपभोक्ताओं को जोडऩे जा रही है, जो चोरी से बिजली जलाकर घरों को रोशन कर रहे हैं। ऐसे उपभोक्ताओं पर बिजली कंपनी कनेक्शन देने के लिए करीब 710 करोड़ खर्च करने जा रही है। इन उपभोक्ताओं को नियमित उपभोक्ता बनाकर तीन साल में पूरी राशि वसूलेगी। उपभोक्ताओं पर होने वाले खर्च के साथ ही वसूली किए जाने का गणित बनाए जाने लगा है।

 

यह भी पढ़ें: VIDEO: जड़ेरुआ रोड पर चला प्रशासन का हथौड़ा, 20 साल से जिन आशियानों में था 100 परिवारों का बसेरा, 5 घंटे में उजाड़ दिया

 

केंद्र सरकार द्वारा प्रदेशभर में 'सौभाग्यÓ योजना शुरू की गई है। योजना के तहत हर वंचित को बिजली कनेक्शन दिया जाना है। ग्वालियर-चंबल संभाग के आठ जिलों में बिजली कंपनी के अधिकारियों ने ऐसे उपभोक्ताओं को जोड़ा है, जिनके घरों में बिजली कनेक्शन नहीं है, लेकिन वे बिजली को दूरदराज क्षेत्र से तार बिछाकर घरों को रोशन कर रहे हैं। इन उपभोक्ताओं को सर्वे के तौर पर नौ लाख अंकित किया गया है। रिपोर्ट बिजली कंपनी के अधिकारियों ने भोपाल एमडी ऑफिस भी भेज दी है। उपभोक्ताओं को नियमित उपभोक्ता बनाकर हर महीने करीब २७ करोड़ का बिल जारी किए जाने का गणित बैठाया जा रहा है।

 

यह भी पढ़ें: आए थे घर उजाडऩे, जिंदगी उजाड़ कर चले गए, मां के गिरने से बच्चे की हुई मौत


18 हजार नए रखे जाएंगे ट्रांसफार्मर
बिजली कंपनी 18 हजार नए ट्रांसफार्मर रखेगी। 5 एमवीए के इस ट्रांसफार्मर से बिजली सप्लाई सौभाग्य योजना के तहत दी जाएगी। इसके अलावा 11 केवी लाइन 4 हजार व एलटी लाइन करीब ६ हजार किलोमीटर लंबी बिछाई जाएगी। इन कार्यों को कराए जाने को लेकर सर्वे का काम शुरू कर दिया गया है।

 

यह भी पढ़ें: तुड़ाई में भेदभाव, गरीबों पर ही चला प्रशासन का जोर


लॉसेज में आएगी गिरावट
अब तक ग्रामीण क्षेत्र में करीब 60 से 70 फीसदी लाइन लॉसेज बना हुआ है। बिजली कंपनी लाइन लॉसेज कम करने के लिए ग्रामीण क्षेत्र में कटौती करती है। लाइन लॉसेज पर होने वाले खर्च को बिजली कंपनी लंबे समय से कम नहीं कर पा रही है। बिजली कंपनी ऐसे उपभोक्ताओं को नियमित ग्राहक बनाकर उन्हें बिजली सप्लाई सुचारू रूप से दिए जाने की कवायद कर रही है।

संभागभर में हर गांव और कस्बे के लोग बिजली जला रहे हैं, लेकिन कनेक्शन न लेने की वजह से बिल जमा नहीं कर रहे हैं। ऐसे उपभोक्ताओं को इस योजना में जोड़ा गया है। वहीं ऐसे उपभोक्ताओं की तलाश की जा रही है, जिनके घर तक बिजली नहीं पहुंची है ऐसे उपभोक्ताओं के लिए 790 करोड़ खर्च होने जा रहे हैं।

द्वारिका प्रसाद अहिरवार, मुख्य महाप्रबंधक, ग्वालियर रीजन, मक्षेविविकंलि

इतनी होगी राशि खर्च, जिला खर्च की राशि करोड़ में
ग्वालियर 44.08
दतिया 44.732
गुना 68.29
अशोक नगर 55.51
भिंड 193.36
मुरैना 190.33
शिवपुरी 104.82
श्योपुर 88.97

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned