scriptYouth are grooming future in health and food supplement, products are | हेल्थ और फूड सप्लिमेंट में युवा संवार रहे भविष्य, मशरूम का उत्पादन कर बना रहे प्रोडक्ट | Patrika News

हेल्थ और फूड सप्लिमेंट में युवा संवार रहे भविष्य, मशरूम का उत्पादन कर बना रहे प्रोडक्ट

ग्वालियर की निशा और विकास ने तैयार किए मशरूम के 22 प्रोडक्ट्स

ग्वालियर

Updated: January 15, 2022 03:51:42 pm

ग्वालियर.

ग्वालियर की निशा और विकास ने तैयार किए मशरूम के 22 प्रोडक्ट्स

समय के साथ हेल्थ सप्लिमेंट और फूड सप्लिमेंट की डिमांड बढ़ी है। खासतौर से मशरूम से बने आयटम्स की मांग ज्यादा है। प्रदेश के युवा इसमें बहुत काम कर रहे हैं। इन्हीं में से एक हैं ग्वालियर की निशा निरंजन, जिन्होंने अपने फ्रेंड विकास के साथ मिलकर मशरूम के उत्पादन का काम शुरू किया। आज वह 22 तरह के प्रोडक्ट तैयार कर रही हैं। उनके ये प्रोडक्ट देशभर में सप्लाई होते हैं। अब वे लो कॉस्ट मशरूम कल्टीवेशन यूनिट तैयार कर रहे हैं। उन्होंने अपने साथ युवा फॉर्मर को भी जोड़ा है। वे लोगों को अवेयर भी कर रहे हैं।
हेल्थ और फूड सप्लिमेंट में युवा संवार रहे भविष्य, मशरूम का उत्पादन कर बना रहे प्रोडक्ट
हेल्थ और फूड सप्लिमेंट में युवा संवार रहे भविष्य, मशरूम का उत्पादन कर बना रहे प्रोडक्ट

अब तैयार कर रहे लो कॉस्ट मशरूम कल्टीवेशन यूनिट
मशरूम की डिमांड को देखते हुए हमने ग्रेजुएशन के सेकंड ईयर से ही स्टार्टअप शुरू कर दिया। यूनिट हमने आइटीएम यूनिवर्सिटी में लगाई। यहीं से हमने बीएएससी एग्रीकल्चर से ग्रेजुएशन किया और अब मास्टर डिगी ले रहे हैं। शुरुआत हमने मशरूम उगाने से की थी। अब हम उस मशरूम से 22 प्रकार के अलग-अलग प्रोडक्ट तैयार करा रहे हैं। इनमें मशरूम कुकीज, मशरूम चॉकलेट भी शामिल हैं। हमारे ये सप्लिमेंट कोविड में काफी पसंद किए गए। हमने हेल्थ सेक्शन के 7 और फूड सेक्शन के 15 प्रोडक्ट बनाए। हमारे इन प्रोडक्ट को स्मार्ट सिटी ने भी सराहा। इस समय हम लो कॉस्ट मशरूम कल्टीवेशन यूनिट पर काम कर रहे हैं, जिसके माध्यम से कच्चे घर पर मशरूम कल्टीवेट यूनिट तैयार कर सकते हैं। देशभर में हमारी 55 लोगों की टीम काम कर रही है। इसमें कई युवा किसान भी शामिल हैं। इंडिया में हम कई जगह मैन्युफैक्चरिंग कर रहे हैं।
निशा निरंजन एवं विकास पटैया, फाउंडर, वीएन ऑर्गेनिक ग्वालियर

फूड सप्लिमेंट हेल्दी होते हैं। ये पूरी तरह नेचुरल होते हैं। फूड सप्लिमेंट के साइड इफेक्ट नहीं होते। बॉडी की रिक्वायरमेंट के अनुसार दिए जाते हैं। हर आयु वर्ग के लोग इन्हें ले सकते हैं। सबसे ज्यादा बच्चे और कमजोर इम्यून सिस्टम वालों को लेना चाहिए। बेनिफिट्स लंबे समय तक दिखाई देते हैं। फूड सप्लिमेंट इम्यूनिटी बूस्ट करने के साथ ही शरीर की संरचना को नए सिरे से बनाए रखने में मदद भी करते हैं। फूड सप्लिमेंट के क्षेत्र में काम करने वालों का कॅरियर कभी डाउन नहीं होता है। पार्ट टाइम में किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी से जुडकर पैसा कमाया जा सकता है। वो महिलाएं जो बोलने और एक्टिव होती हैं, उनके लिए इसमें सुनहरा अवसर है। सबसे बड़ा फायदा यही है कि इसमें कोई टाइम बाउंडेशन नहीं होती, अपना काम कभी भी कर सकते हैं। फूड सप्लिमेंट सेलिंग में एक सफल हेल्थ एडवाइजर बना जा सकता है। परिवार को साथ लेकर भी काम किया जा सकता है।
शारदा कोष्टा, फूड सप्लीमेंट हेल्थ एडवाइजर, जबलपुर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पंजाबः अवैध खनन मामले में ईडी के ताबड़तोड़ छापे, सीएम चन्नी के भतीजे के ठिकानों पर दबिशPunjab Assembly Election 2022: पंजाब में भगवंत मान होंगे 'आप' का सीएम चेहरा, 93.3 फीसदी लोगों ने बताया अपनी पसंदUttarakhand Election 2022: हरक सिंह रावत को लेकर कांग्रेस में विवाद, हरीश रावत ने आलाकमान के सामने जताया विरोधUP Election 2022 : अखिलेश के अन्न संकल्प के बाद भाकियू अध्‍यक्ष का यू टर्न, फिर किया सपा-रालोद गठबंधन के समर्थन का ऐलानखतरनाक हुई तीसरी लहर, जांच में हर पांचवां व्यक्ति कोरोना संक्रमितIndian Railways: स्टेशन पर थूकने वाले हो जाएं सावधान, रेलवे में तैयार किया ये खास प्लानभीषण लपटों से भी नहीं डरे ग्रामीण, अपनी जान पर खेलकर पड़ौसी को बचाया, Videoमशहूर कार्टूनिस्ट नारायण देबनाथ का निधन, सीएम ममता बनर्जी ने जताया शोक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.