गजब! Diwali पर यहां फुंक गई 12 लाख से अधिक यूनिट बिजली

Highlights:

-शासन ने दीपावली पर तीन दिन तक 24 घंटे बिजली देने के निर्देश दिए थे

-दीपावली के दिनों में रोजाना चार लाख यूनिट अधिक बिजली फुंकी

-तीन दिन में करीब 12 लाख यूनिट से अधिक ज्यादा बिजली खपत का अनुमान

By: Rahul Chauhan

Published: 15 Nov 2020, 10:51 AM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

हाथरस। दीपावली का त्योहार आने से पहले ही लोग अपने-अपने घरों पर तरह-तरह की लाइटें लगाते हैं। जिसके चलते इन दिनों बिजली की खपत भी बढ़ जाती है। वहीं इस बार योगी सरकार ने सभी जनपदों के विद्युत विभाग को दीपावली पर तीन दिन तक 24 घंटे बिजली देने का निर्देश दिए थे। जिसके चलते हाथरस जिले में रोजाना करीब चार लाख यूनिट से अधिक बिजली की खपत रिकॉर्ड की गई है। बिजली विभाग के मुताबिक तीन दिन में करीब 12 लाख यूनिट से अधिक बिजली की खपत जनपद में हुई है।

यह भी पढ़ें: स्क्रैप के गोदाम में लगी भीषण आग, पुलिस ने खाली कराया आसपास का इलाका

दरअसल, योगी सरकार ने त्योहारों के मद्देनजर 12 नवंबर से 14 नवंबर तक 24 घंटे बिजली आपूर्ति देने का ऐलान किया था। जिसकी तैयारी सभी जनपदों के विद्युत विभाग ने कर ली थी। उधर, इन दिनों बिजली की खपत अधिक हुई है। विद्युत विभाग के अधिकारियों के मुताबिक हाथरस में आम दिनों में रोजाना 10 से साढ़े दस लाख यूनिट बिजली की खपत होती है। इसमें घरेलू व कमर्शियल के साथ-साथ औद्योगिक इकाइयों में खर्च होने वाली बिजली भी शामिल है।

अधिकारियों का कहना है कि दीपावली के दिनों में लोग अधिक लाइटें आदि लगाते हैं। जिससे बिजली की खपत इन दिनों बढ़ जाती है। ऐसे में अतिरिक्त बिजली की पूर्ति के लिए औद्योगिक इकाइयों को भी बंद कराया जाता है। ऐसे भी कई मामले सामने आए हैं जिसमें लोग त्योहारों में इस्तेमाल होने वाली तरह-तरह की लाइटों को चोरी की बिजली से जलाते हैं। वहीं इस बार की बात करें तो जनपद में 12 लाख यूनिट से अधिक बिजली की खपत का अनुमान लगाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: पूर्व भाजपा विधायक ने दिवाली पर सरेआम की ताबड़तोड़ फायरिंग, वीडियो वायरल

अधीक्षण अभियंता एसई हरीमोहन ने जानकारी देते हुए बताया कि सरकार के निर्देश पर दीपावली पर शहर के अलावा गांवों में भी तीन दिन तक 24 घंटे बिजली की सप्लाई दी गई है। कहीं से भी आपूर्ति प्रभावित होने की जानकारी नहीं मिली। दीपावली के दिनों में बिजली की खपत बढ़ जाती है। लोग अपने घरों व दफ्तरों को सजाने के लिए लाइटों आदि का इस्तेमाल करते हैं। जनपद में 12 लाख यूनिट से अधिक की खपत का अनुमान है। जबकि अन्य दिनों में 10 से साढ़े दस लाख यूनिट बिजली की खपत होती है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned