राजधानी के बड़े मेडिकल कॉलेज में सीनियर करते थे रैगिंग, शिकायत के बाद नहीं सुनीं बात तो स्टूडेंट ने उठाया यह कदम

sandeep nayak

Publish: Jun, 14 2018 02:16:00 PM (IST)

Hoshangabad, Madhya Pradesh, India
राजधानी के बड़े मेडिकल कॉलेज में सीनियर करते थे रैगिंग, शिकायत के बाद नहीं सुनीं बात तो स्टूडेंट ने उठाया यह कदम

कॉलेज के सीनियर स्टूडेंट 1 साल से रैंगिग करते हुए परेशान कर रहे थे

बैतूल। तमाम रोक और प्रतिबंध के बावजूद कॉलेज में होने वाली रैंगिग पर रोक नहीं लग पा रही है। इस बार मामला सामने आया है राजधानी भोपाल के एक बड़े मेडीकल कॉलेज का। जिसमें कॉलेज के ही सीनियर स्टूडेंट एक अन्य स्टूडेंट्स के साथ करीब 1 साल से रैंगिग करते हुए परेशान कर रहे थे। जिससे परेशान होकर उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ही। पीडि़त छात्र बैतूल का रहने वाला है।

फस्र्ट ईयर का दिया था एग्जाम
बैतूल जिले के पढुर्ना के सेंदूरजना का रहने वाला यश कुमार वराठे भोपाल के लक्ष्मी नाराण मेडिकल कॉलेज में रहकर मेडिकल की पढ़ाई कर रहा था। बताया जाता है कि हाल ही में उसने फस्र्ट इयर का एग्जाम दिया था। उसके साथ कॉलेज में रैंगिग लंबे समय से हो रही थी। कई बार उसके साथ मारपीट भी की गई थी। जिसकी शिकायत उसने एंटी रैङ्क्षगंग विभाग में भी की थी। इसके बाद भी उसकी परेशानियां कम नहीं हुई। वहीं उसने इसकी शिकायत भोपाल पुलिस को भी की थी।

 

एक दिन पहले भोपाल से लौटा था बैतूल
यश के पिता प्रहलाद पाठे ने बताया कि बेटा कल ही भोपाल से बैतूल आया था यह वह मौसी के बेटे के घर गया था। मौसी का बेटा पेपर देने होशंगाबाद गया था इसी दौरान यश ने उसके कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। यश के साथ लंबे समय से रैङ्क्षगग हो रही थी जिससे वह परेशान था। इसकी शिकायत भोपाल पुलिस से भी की गई थी।

चोरी का आरोप लगाया था
यश के पिता ने बताया कि कॉलेज में उसके ऊपर १० हजार रुपए चोरी का आरोप भी लगाया गया था। जिसको लेकर वह परेशान था। इस कारण कुछ दिन पहले ही उसे पैसे भेजे गए थे।

अब कोतवाली पुलिस कर रही जांच
मृतक यश द्बारा आत्महत्या करने के बाद अब बैतूल कोतवाली पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned