Coronavirus: चीन में 2012 में मिला था कोरोना जैसा वायरस, लोगों की हुई मौत, वैज्ञानिकों का खुलासा

-चीन के वुहान ( China Wuhan ) से पैदा हुए कोरोना वायरस ( Coronavirus ) ने भारत समेत पूरी दुनिया में भारी तबाही मचा रखी है।
-तमाम वैज्ञानिक और डॉक्टर्स कोरोना वायरस ( Coronavirus Research ) पर शोध में जुटे हुए हैं।
-इसी बीच चीन के वैज्ञानिकों ने चौंकाने वाला खुलासा किया है।
-वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि साल 2012 में मोजियांग प्रांत में कोरोना जैसा ही एक वायरस पाया गया था। उस वायरस की वजह से कई लोगों की जान भी गई थी।

By: Naveen

Updated: 10 Jul 2020, 01:10 PM IST

नई दिल्ली।
चीन के वुहान ( China Wuhan ) से पैदा हुए कोरोना वायरस ( Coronavirus ) ने भारत समेत पूरी दुनिया में भारी तबाही मचा रखी है। दुनिया में अब तक कुल मरीजों ( Covid-19 Cases ) की संख्या 12,397,026 हो चुकी है, जबकि 557,549 की मौत हो गई है। तमाम वैज्ञानिक और डॉक्टर्स कोरोना वायरस ( Coronavirus Research ) पर शोध में जुटे हुए हैं। हर दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं। इसी बीच चीन के वैज्ञानिकों ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि साल 2012 में मोजियांग प्रांत में कोरोना जैसा ही एक वायरस पाया गया था। उस वायरस की वजह से कई लोगों की जान भी गई थी। वैज्ञानिकों ने बताया कि वायरस की मौजूदगी का पता चमगादड़ों से भरी खाली पड़ी तांबे की खान में चला था।

covid-19.jpg

कोरोना वायरस जैसे ही थे लक्षण
रिपोर्ट के अनुसार, 2012 में चमगादड़ों वाली खान में जाने वाले करीब छह लोगों को बुखार, लगातार खांसी, पूरे शरीर में दर्द और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत थी। जिसके बाद उनका इलाज किया गया, जिसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी। उस वक्त वायरस को RaBtCoV/4991 का नाम दिया गया था। चौंकाने वाली बात है कि यही लक्षण अब कोरोना वायरस संक्रमित लोगों में पाए जा रहे हैं। हाल ही में शोध में RaBtCoV/4991 वायरस को SARS-Cov-2 वायरस से काफी समानांतर बताया गया।

Coronavirus: कोरोना वायरस के वो 5 रहस्य जो अब तक कोई नहीं जान पाया, वैज्ञानिक भी हैरान

covid-19_virus_5_facts_02.jpg

जानवरों से फैला वायरस
चीनी वैज्ञानिकों ने शोध में पता लगाया ? कोरोना वायरस ?स कोविड-19 का कारण बनने वाले वायरस से 96.2 फीसद समानता रखता है। वैज्ञानिकों से दावा किया है कि कोविड-19 वायरस वुहान में किसी जानवर से इंसानों में फैला है। इसके बाद इंसानों के जरिए यह घनी आबादी में पहुंचकर अन्य देशों तक फैल गया। लेकिन, पशु रोग ब्रिटिश विशेषज्ञ डॉक्टर पीटर दस्जक का कहना है कि कोरोना वायरस वुहान से नहीं, बल्कि कहीं और से फैला है। उन्होंने कहा कि ये पहले ही मोजियांग की खान में फैल चुका है। फिर उसके बाद वुहान में सामने आया।

पहली बार दिखा corona का नया रूप , 4 बार रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी COVID-19 संक्रमित

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned