धोखाधड़ी का लगा है आरोप, फिर भी भोपाल में हो गया डीपीसी का सम्मान

धोखाधड़ी का लगा है आरोप, फिर भी भोपाल में हो गया डीपीसी का सम्मान

Sanjay Rajak | Publish: Jul, 11 2019 11:18:29 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

वॉल ऑफ फेम गोल्ड अवॉर्ड मिला

इंदौर. न्यूज टुडे. जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से फर्जी तरीके से हुई ९ निजी स्कूलों की मान्यता के मामले में आरोपित डीपीसी अग्रिम जमानत पर हैं। राजेंद्र नगर पुलिस द्वारा गंभीर आपराधिक धाराओं में प्रकरण दर्ज कर मामले की विवेचना की जा रही है। इधर, डीपीसी को विभाग द्वारा बेहतर काम के लिए सम्मानित किया जा रहा है। हाल ही भोपाल में आयोजित हुए एक कार्यक्रम में इंदौर डीपीसी को वॉल ऑफ फेम गोल्ड अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है, जबकि विभाग को उन पर कार्रवाई करना थी।

उल्लेखनीय है कि कुछ माह पहले बिरला ओपन माइंड्स इंटरनेशनल स्कूल, बॉम्बे पब्लिक स्कूल, माइंड्स आई वल्र्ड स्कूल, श्रीजी इंटरनेशनल स्कूल सहित ९ स्कूलों को फर्जी तरीके से मान्यता दी गई थी। जांच के बाद जिला राजेंद्र नगर पुलिस ने जिला प्रोग्रामर और डीपीसी अक्षय ङ्क्षसह राठौर के खिलाफ एफआइआर दर्ज की थी।

शिकायत के बाद राजेंद्र नगर पुलिस ने जिला प्रोग्रामर धीरेंद्र परिहार और डीपीसी अक्षय ङ्क्षसह राठौर के खिलाफ आई एक्ट और धारा ४२० का प्रकरण दर्ज किया। प्रकरण दर्ज होने के बाद आरोपित डीपीसी राठौर ने अग्रिम जमानत ले ली। राजेंद्र नगर थाना प्रभारी सुनील शर्मा ने बताया कि इस मामले में एक रिपोर्ट का इंतजार कर रहे थे जो राज्य शिक्षा केंद्र से आना है। इसके साथ ही कुछ दस्तावेज आना बाकी हैं। इसके बाद आगे कार्रवाई की जाएगी।

यह मिला सम्मान

राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा हर जिले में वॉल ऑफ फेम तैयार की गई थी, जिसमें अपने जिले के स्कूलों में बेहतर काम करना था। आरोपित डीपीसी राठौर को 15 स्कूलों में बेहतर काम करने के लिए गोल्ड अवॉर्ड मिला है। यह अवॉर्ड राशिके के संचालक आयरिन सिंथिया ने दिया।

ऐसे हुई थी मान्यता

इन 9 स्कूलों की मान्यता डीपीसी राठौर के डोंगल के माध्यम से डिजिटल साइन से की गई है। इस डोंगल की पूरी जिम्मेदारी संबंधित अफसर की ही होती है, लेकिन राठौर ने पूरी जिम्मेदारी जिला प्रोग्रामर पर ही थोप दी और विभाग ने जिला प्रोग्रामर को सेवा मुक्त कर दिया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned