3 दिन में दूसरी बार यहां बना ग्रीन कारिडोर, किडनी और लिवर से 3 लोगों को मिला नया जीवन

इंदौर में 3 दिनों के भीतर दूसरी बार अंगदान के लिए ग्रीन कारिडोर बनाया गया। अगर कुल मिलाकर देखें, तो शहर में ये 41वां मौका था जब ग्रीन कारिडोर के जरिये अंगदान एक जगह से दूरी जगह पहुंचाए गए।

By: Faiz

Updated: 19 Sep 2021, 04:23 PM IST

इंदौर. मध्य प्रदेश की आर्थिक नगरी इंदौर में 3 दिनों के भीतर दूसरी बार अंगदान के लिए ग्रीन कारिडोर बनाया गया। अगर कुल मिलाकर देखें, तो शहर में ये 41वां मौका था जब ग्रीन कारिडोर के जरिये अंगदान एक जगह से दूरी जगह पहुंचाए गए। पार्श्वनाथ नगर में रहने वाली 37 वर्षीय नेहा चौधरी करीब 1 हफ्ते पहले ब्रेन हेमरेज के कारण चोइथराम अस्पताल में भर्ती हुई थी। इस दौरान उनकी न्यूरो सर्जरी हुई लेकिन हार्ट अटैक आने के कारण उका ब्रेन डेड हो गया। इसके बाद उनके परिजन ने उनके अंगदान का फैसला लिया। इसपर आज रविवार को उनकी किडनी, लिवर और फैफड़ों को तीन अलग अलग अस्पतालों में भर्ती तीन अलग अलग मरीजों को डोनेट कर जीवन दान किया गया।


डोनर नेहा के पति पंकज चौधरी ने बताया कि, नेहा जब जीवित थी तभी उसने मुझसे कई बार कहा था कि इतने लोगों के शहर में अंगदान होते हैं। अगर मेरा निधन आपसे पहले हो जाए तो मेरी बाडी भी डोनेट कर देना। नेहा के पति ने कहा कि, हमें क्या पता था कि, उसकी ये बातें इतनी जल्दी सच हो जाएंगी और हमें उसका अंगदान करना पड़ेगा। नेहा की इच्छा को ध्यान में रखते हुए हमने उसकी दोनों किडनी और लीवर दान किये हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- पुलिसकर्मी ने छुए भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पैर, MP में राजनीतिक बवाल, जानिये मामला


ऐसे पहुंचाए गए ऑर्गन

News

रविवार सुबह 1:29 पर चोइथराम अस्पताल से ब्रेन डेथ नेहा की एक किडनी निकालकर ग्रीन कारिडोर के जरिये मात्र 6 मिनट में सीएचएल अस्पताल पहुंचाई गई। इसके अलावा, एक अन्य एंबुलेंस में नेहा की दूसरी किडनी चोइथराम अस्पताल से मात्र 8 मिनट 17 सेकंड में बॉम्बे अस्पताल पहुंचाई गई। इसके अलावा नेहा का लिवर चोइथराम अस्पताल में एक अन्य लिवर सिरोसिस के मरीज को लगाया गया। आर्गन ट्रांसप्लांट की प्रक्रिया के लिए चोइथराम अस्पताल में दिल्ली के फोर्टीस डॉ. आरिफ, डॉ. आशीष सिंघल और डॉ अनिल अग्रवाल की द्वारा किया गया।

 

पढ़ें ये खास खबर- MP से अहमदाबाद-नागपुर के लिये 20 सितंबर से शुरु हो रही है नई उड़ान, जानिये शेड्यूल

 

इन्हें मिला नया जीवनदान

-बाम्बे अस्पताल : इंदौर की 60 वर्षीय महिला डायलिसिस पर हैं। उन्हें नेहा द्वारा दन की जाने वाली किडनी ट्रांसप्लांट की जाएगी।

-सीएचएल अस्पताल : इंदौर की 35 वर्षीय महिला को नेहा द्वारा दान की जाने वाली दूसरी किडनी ट्रांसप्लांट की जाएगी।

-चोइथराम अस्पताल : इंदौर के 56 वर्षीय पुरुष को पांच साल से हेपेटाइटिस बी के कारण लिविर सिरोसिस की बीमारी है। दो साल पहले उन्हें लिवर का कैंसर हुआ है। अब उन्हें भी नेहा द्वारा डोनेट किया गया लिवर ट्रांसप्लांट किया जाएगा।

 

जानलेवा लापरवाही का LIVE VIDEO

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned