16 से 20 तक भारी बारिश की चेतावनी, डेम का गेट खोला, कलेक्टर ने अफसरों की छुट्टियां की निरस्त

16 से 20 तक भारी बारिश की चेतावनी, डेम का गेट खोला, कलेक्टर ने अफसरों की छुट्टियां की निरस्त

Hussain Ali | Updated: 15 Aug 2019, 11:37:30 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

- सुबह रिममिझ, दोपहर बाद झमाझम, 36 घंटे में 2 इंच बरसे मेघ
- गंभीर में बढ़ा पानी, यशवंतसागर का एक गेट खोला
- मकानों पर गिरे दो पेड़, कोई जनहानि नहीं

इंदौर. बुधवार सुबह रिमझिम और दोपहर बाद झमाझम से मानसून ने रंग जमाया। 36 घंटों के दौरान शहर में 2 इंच से ज्यादा बारिश दर्ज की गई। अब तक 28 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है, जो अगस्त के कोटे मात्र १ इंच दूर है। गुरुवार को भी सुबह से बारिश का दौर चल रहा है। जिले में मौसम विभाग ने 16 से 20 अगस्त के बीच भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। उक्त स्थिति को देखते हुए कलेक्टर लोकेश जाटव ने इस दौरान किसी भी अधिकारी, कर्मचारी को किसी भी प्रकार का अवकाश स्वीकृत नहीं करने के आदेश दिए हैं। आदेश में कहा है कि सभी अधिकारी, कर्मचारी नियत मुख्यालय में ही रहें। उक्त दिनों में किसी का अवकाश पूर्व में स्वीकृत हुआ है तो उसे निरस्त माना जाएगा।

must read : बंगाल की खाड़ी से आगे बढ़ा नया सिस्टम, पिछली बार इसने मचाई थी तबाही

मौसम विभाग के अनुसार बंगाल की खाड़ी से बने कम दबाव के क्षेत्र के कारण प्रदेश के उत्तर-पूर्व इलाके में जमकर बारिश हो रही हैं। इंदौर सहित पश्चिम इलाकों में रिमझिम बारिश हो रही है। बुधवार सुबह 11 बजे बूंदाबांदी का दौर शुरू हुआ, जिसने 2 बजे बाद रफ्तार पकड़ ली और शाम 5 बजे बाद तेज बारिश का रंग जमा। बादल छाने और लगातार बारिश से तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। अधिकतम तापमान 25.8 व न्यूनतम तापमान 23 डिग्री रिकॉर्ड किया गया।

indore

गंभीर में बढ़ा पानी, यशवंतसागर का एक गेट खोला

बुधवार दोपहर को शुरू हुई बारिश के बाद गंभीर नदी में पानी लगातार बढ़ता रहा। वहीं शाम होते-होते यशवंतसागर तालाब अपनी क्षमता 19 फीट से ज्यादा पानी बढ़ गया था। वहीं लगातार पानी बढऩे के कारण शाम 6 बजे यहां का एक गेट खोलकर क्षमता से ज्यादा बढ़े पानी को कम किया गया।

must read : हेलमेट को चकनाचूर करते हुए IIT छात्र के सिर से निकल गया ट्रक का पहिया, दर्दनाक मौत

वहीं गेट खोलने के पहले नगर निगम ने उज्जैन के गंभीर बांध सहित गंभीर के आगे के गांवों में सुरक्षा प्रबंधन के लिए हातोद और देपालपुर पुलिस को भी इसकी जानकारी दे दी गई। निगम के जलकार्य समिति प्रभारी बलराम वर्मा के मुताबिक गंभीर में पानी की मात्रा लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में आवश्यकता पडऩे पर यशवंतसागर के और भी गेट खोले जाएंगे।

मकानों पर गिरे दो पेड़, कोई जनहानि नहीं

बुधवार को हुई बारिश के दौरान शहर में चार पेड़ गिर गए। इनमें पल्हरनगर के पास स्थित ओमविहार कॉलोनी में सडक़ पर एक पेड़ गिर गया। वहीं कलेक्टर कार्यालय के पास मोतीतबेला में भी एक पेड़ गिरा। ये पेड़ पास में मौजूद मकान पर गिरा। जिससे मकान की दीवार टूट गई। हालाकि किसी तरह की जानमाल का नुकसान नहीं हुआ। वहीं लसूडिय़ा क्षेत्र में श्रीराम कॉलोनी में भी एक पेड़ पास में मौजूद मकान पर गिर गया। यहां भी किसी तरह की जानमाल का कोई नुकसान नहीं हुआ। वहीं बाणगंगा थाने में मौजूद एक पेड़ भी गिर गया।

must read : झोपड़ी में रहता था शहीद का परिवार, युवाओं ने 11 लाख इकट्ठा कर बना दिया बंगला, आज पत्नी को करेंगे गिफ्ट

सडक़ों पर भराया पानी

वहीं बारिश के दौरान अगरबत्ती कॉम्प्लेक्स के पास में मौजूद बस्ती में पानी भरा गया था। इसी तरह से बीआरटीएस, पाटनीपुरा चौराहा, एमजी रोड कोठारी मार्केट सहित अन्नपूर्णा रोड पर भी पानी भरा गया था।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned