script विकार दूर करने में कारगर ऑक्यूपेशनल थेरेपी | MYHospital | Patrika News

विकार दूर करने में कारगर ऑक्यूपेशनल थेरेपी

locationइंदौरPublished: Jan 15, 2024 07:37:12 pm

एमवाय अस्पताल में नया वार्ड बनने से अधिक मरीजों को मिल रहा इलाज

विकार दूर करने में कारगर ऑक्यूपेशनल थेरेपी
इंदौर. एमवायएच के फिजियोथेरेपी विभाग में ऑक्यूपेशनल थेरेपी से बच्चों के न्यूरोलॉजिकल विकार दूर करने में मदद मिल रही है। जिन बच्चों को किसी बीमारी या जन्मजात विकार के कारण चलने, बैठने व बोलने में दिक्कत होती है उन्हें यह विशेष थेरेपी सरकारी खर्च पर उपलब्ध कराई जा रही है। इससे बच्चे दैनिक काम करने में सक्षम हो रहे हैं।
एमवायएच में ऑक्यूपेशनल थेरेपी को लेकर नया वार्ड बनाया गया है। यहां बच्चों के साथ ही मानसिक या शारीरिक रोग या अक्षमता से ग्रस्त व्यक्ति भी पहुंच रहे हैं। ऑक्यूपेशनल थेरेपिस्ट इन्हें उपचार दे रहे हैं। इस थेरेपी में स्ट्रोक, प्लेक्सेस की चोट, नसों का दबना, पट्टे की चोट, कमर दर्द, जोड़ों का दर्द, गठिया आदि का इलाज भी किया जा रहा है। अस्पताल में रोज 200 के लगभग मरीज पहुंचते हैं। इनमें से 40 मरीज इस विभाग में आते हैं। विभाग में सौ के लगभग छात्राएं भी ट्रेङ्क्षनग के लिए पहुंचती हैं।
केस-1 : बाणगंगा का ९ वर्ष बालक ऑक्यूपेशनल थेरेपी के लिए रोज आता है। पहले हाथ-पैर काम नहीं करते थे, किसी वस्तु को उठाने में पकड़ नहीं बनती थी। अब चीजों को पकडऩे लगा है। खड़े रहने व चलने की स्थिति में भी सुधार है। पिता शैलेश सोलंकी ने बताया, छह माह पहले दिमागी बुखार से यह स्थिति हो गई थी।
केस-2: तीन इमली निवासी 5 वर्षीय बालक का माता-पिता के साथ बाइक पर जाते समय स्टार चौराहे के पास एक्सीडेंट हो गया था। उसके एक हाथ में गंभीर चोट आई। ऑक्यूपेशनल थेरेपी से राहत मिल रही है। मौसी रवीना परमार ने बताया, अब स्थिति में सुधार है। बच्चे को रोज अस्पताल लेकर आते हैं।
इन बीमारियों में बच्चे पा रहे उपचार: ऑटिज्म, एडीएचडी, सेरेबल पाल्सी, डाउन ङ्क्षसड्रोम, डेवलपमेंट डिले, मिर्गी के दौरे आना, टोर्टीकॉलीस, बोलने सुनने या देखने में परेशानी आदि।
मोबाइल से बच्चों के ध्यान में आ रही कमी
ऑक्यूपेशलन थेरेपी के लिए ऐसे बच्चे भी पहुंच रहे हैं जो अधिक मोबाइल या टीवी देखते हैं। इनसे उनके ध्यान लगाने, एक काम पर फोकस करने आदि की दिक्कत आती है। इसे ऑटिज्म कहा जाता है। इसमें पांच से 8 साल के ऐसे बच्चे भी पहुंच रहे हैं जो मोबाइल की लत से ग्रस्त हैं। इन्हें भी यहां पर व्यायाम कराए जा रहे हैं।
कई प्रकार के शारीरिक व मानसिक रोग के इलाज में ऑक्यूपेशनल थेरेपी दी जा रही है। इसमें बच्चों के लिए नया आधुनिक वार्ड बनाया है, जहां उन्हें अलग-अलग तरह के व्यायाम कराए जा रहे हैं।
-डॉ. गौतम सुरागे, ऑक्यूपेशनल थेरेपी विभाग प्रभारी
ऑक्यूपेशनल थेरेपी से बच्चे ही नहीं व्यस्क व बुजुर्ग भी इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। बीमारी के साथ एक्सीडेंट में मांसपेशियों के ङ्क्षखचाव या अन्य कारणों से हो रही परेशानी से भी लोग व्यायाम से राहत पा रहे हैं।
-डॉ. मनीष गोयल, प्रभारी फिजियोथेरेपी विभाग, एमवायएच

ट्रेंडिंग वीडियो