अपना आशियाना होना है जरूरी, 60 फीसदी लोग रेडी टू मूव प्रॉपर्टी खरीदने के इच्छुक

  • REAL ESTATE SECTOR में निवेश है लोगों का पसंदीदा
  • 35 फीसदी लोगों की निवेश के लिए पहली पसंद घर

By: Pragati Bajpai

Updated: 18 Jun 2020, 05:46 PM IST

नई दिल्ली: कोरोना के माहौल में भले ही रियल एस्टेट ( REAL ESTATE SECTOR ) में निर्माण कार्य रूक गया हो लेकिन एक बात शुरूआत से कही जा रही थी कि कोरोना के बाद इस सेक्टर के अच्छे दिन आ सकते हैं। भले ही प्रॉपर्टी के प्राइस थोड़े से गिर जाए लेकिन खरीदारों की रूचि इस सेक्टर में बढेगी। यानि कोरोना संकट के बावजूद लोग घर खरीदने में इंटरेस्ट दिखा रहे हैं।

हाउसिंग डॉटकॉम और नेशनल रियल एस्टेट डेवलपमेंट काउंसिल (NAREDCO) ने मिलकर 'कंसर्न्ड येट पॉजिटिव - द इंडियन रियल एस्टेट कंज्यूमर (अप्रैल - मई 2020)' रिपोर्ट जारी की है इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि लगभग 35% लोग ऐसे हैं जो अपने घर को बेहतर निवेश मानते हैं । इसके बाद 28 फीसदी लोगों ने माना कि गोल्ड खरीदारी सबसे सही निवेश हो तो 22 फीसदी लोग आज भी fixed Deposit को बेहतर निवेश मानते हैं। वहीं, 16% लोगों ने स्टॉक्स में निवेश करने की बात कही है।

कुछ देर में होगी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की प्रेस कांफ्रेंस, गरीब कल्याण रोजगार स्कीम के बारे में देंगी जानकारी

आपको मालूम हो कि इस सर्वे में लगभग 3000 लोगों ने भाग लिया और इसमें से 73 फीसदी लोग रेडी टू मूव प्रॉपर्टी में जाने के इच्छुक थे। 60% ने कहा कि अगले छह महीनों के लिए वे रेडी-टू-मूव-इन प्रॉपर्टी पसंद करेंगे। वहीं, 21% एक साल के अंदर अपनी प्रॉपर्टी की डिलीवरी चाहते थे।

यहां एक और बात बता दें कि NAREDCO का मानना है, कोविड -19 ( COVID-19 ) ने दुनिया के यूजर और निवेशकों को अपने घर की महत्ता को समझाया है । हालांकि फिलहाल लोग कैस फ्लो की कमी के चलते घर खरीदने का प्लान रोक चुके हैं लेकिन देखा जा रहा है कि हालात सुधरने के बाद लोग पहला काम घर खरीदना करना चाहते हैं।

दूध, दही के बाद आटा बेचने की तैयारी में Amul, आशीर्वाद से लेकर Fortune को मिलेगी टक्कर

कम ब्याज दरों ( Low Interest on home loan ) की वजह से भी लोग हो रहे हैं आकर्षित- आपको बता दें कि कोरोना की वजह से होम लोन्स की दरें काफी कम है यानि पहले की अपैक्षा लोगों को कम ब्याज पर लोन मिल सकता है तो वहीं ऐसी भी खबरें आ रही हैं कि आने वाले वक्त में महानगरों में प्रॉपर्टी ( PROPERTY PRICES ) के प्राइस में 20 फीसदी तक की गिरावट हो सकती है जिसकी वजह से प्रॉपर्टी सेल में बूम आने की आशंका जताई जा रही है।

Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned