scriptPatrika Interview : ‘पार्टी का मुखिया हमेशा परिवार का ही सदस्य होता है’, पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर साधा निशाना | Patrika Interview: The head of the party is always a member of the family, PM Modi targets opposition parties | Patrika News
International news

Patrika Interview : ‘पार्टी का मुखिया हमेशा परिवार का ही सदस्य होता है’, पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर साधा निशाना

Patrika Interview : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पत्रिका को दिए इंटरव्यू में परिवारवाद को लेकर विपक्ष दलों पर जोरदार हमला बोला हैं। पढ़िए पीएम मोदी के इंटरव्यू के प्रमुख अंश:-

नई दिल्लीApr 17, 2024 / 02:57 pm

Shaitan Prajapat

Patrika Interview : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पत्रिका समूह के डिप्टी एडिटर भुवनेश जैन से खास बातचीत में परिवारवाद को लेकर कई मुद्दों पर चर्चा की। पीएम मोदी ने कहा कि परिवार चलित पार्टी में कोई किसी भी पद पर पहुंच जाए, वो परिवार के नीचे ही रहता है। इतना ही नहीं वहां बने रहने के लिए चापलूसी भी करनी पड़ती है। प्रधानमंत्री ने बताया कि किसी नेता का बेटा-बेटी पॉलिटिक्स में ना आए, ऐसा विरोध हम नहीं करते। लेकिन जो आएं वो लोकतांत्रिक तरीके से आएं और देशहित के लिए काम करें। पेश है पीएम मोदी और पत्रिका के डिप्टी एडिटर भुवनेश जैन के बीच हुई बातचीत के प्रमुख अंश…
सवाल- भाजपा परिवारवाद के खिलाफ आवाज उठाती है, लेकिन पार्टी ने कई नेताओं के परिजनों को टिकट दिए। नेताओं के परिजनों को टिकट देने के पीछे क्या मजबूरी रही?

जवाब- पार्टी में परिवार जुड़ें इससे इनकार नहीं, लेकिन परिवार ही पार्टी बन जाए ऐसा ठीक नहीं है। इसको मैं पहले भी कह चुका हूं और आपके माध्यम से एक बार फिर जनता के लिए दोहराता हूं कि परिवारवाद को लेकर मेरा जो विरोध है वो इस बात को लेकर है कि पूरी की पूरी पार्टी ही परिवार से ही चलती है। उसका नेता हमेशा परिवार का ही सदस्य होता है, इस बात का विरोध है।
परिवार चलित पार्टी में कोई किसी भी पद पर पहुंच जाए, वो परिवार के नीचे ही रहता है। वहां बने रहने के लिए चापलूसी करना जरूरी होता है। उनकी पार्टी के हर व्यक्ति को पता होता है कि परिवार की कृपा से ही वो आगे बढ़ पाएंगे, इसलिए वहां प्रतिभा का कोई महत्त्व नहीं रह जाता। ऐसी पार्टियां युवाओं के लिए बहुत नुकसानदायक हैं, क्योंकि वहां प्रतिभाएं कुचल दी जाती हैं।
ये जो परिवार-चलित पार्टियां हैं, इनमें आंतरिक लोकतंत्र नहीं होता। उस पार्टी का मुखिया हमेशा परिवार का ही सदस्य होता है। दिखावे के लिए वो पद पर किसी और को बिठा देते हैं, लेकिन पार्टी में ये सबको पता होता है कि किससे निर्देश लेने हैं और किसको रिपोर्ट करनी है। जिन दलों में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है, वो देश के लोकतंत्र का सम्मान करेंगे, इसकी अपेक्षा करना ही हास्यास्पद है। किसी नेता का बेटा-बेटी पॉलिटिक्स में ना आए, ऐसा विरोध हम नहीं करते। लेकिन जो आएं वो लोकतांत्रिक तरीके से आएं और देशहित के लिए काम करें।

Hindi News/ International news / Patrika Interview : ‘पार्टी का मुखिया हमेशा परिवार का ही सदस्य होता है’, पीएम मोदी ने विपक्षी दलों पर साधा निशाना

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो