scriptCaveat filed in Supreme Court in OBC reservation case | OBC reservation पर सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दायर | Patrika News

OBC reservation पर सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दायर

-हाईकोर्ट लगा चुकी है OBC reservation पर रोक

जबलपुर

Published: July 18, 2021 12:06:58 pm

जबलपुर. OBC reservation का मामला अब सुप्रीम न्यायालय पहुंच गया है। मध्य प्रदेश हाईकोर्ट से ओबीसी आरक्षण पर रोक के बाद प्रदेश सरकार सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी कर ही रही थी कि अधिवक्ता आदित्य संघी ने सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दायर कर दिया है। यानी अब एमपी सरकार अगर सुप्रीम कोर्ट जाती भी है तो पहले अधिवक्ता आदित्य की बात सुनी जाएगी।
सर्वोच्च न्यायालय
सर्वोच्च न्यायालय
बता दें कि पिछले हफ्ते ही प्रदेश सरकार ने ओबीसी आरक्षण को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की। इस बैठक में ही सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला लिया गया। लेकिन सरकार अभी तैयारी ही कर रही थी कि सुप्रीम कोर्ट में कैविएट दायर कर दी गई।
यहां यह भी बता दें कि 2019 से लगातार यह मामला मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में लंबित है। पिछली सुनवाई में भी हाईकोर्ट ने प्रदेश में बढ़े हुए 27 प्रतिशत ओबीसी आरक्षण पर पूर्व में दिए गए रोक को बरकरार रखा। हाईकोर्ट, सिर्फ 14 फीसदी ओबीसी आरक्षण ही प्रदेश में लागू रहने की स्वीकृति दे रहा है।
ये भी पढें- मध्य प्रदेश में OBC reservation मसले पर शिवराज सरकार की नई रणनीति

इसके पूर्व सरकार अपने जवाब से स्पष्ट कर चुकी है कि वह मध्य प्रदेश में ओबीसी को आबादी के लिहाज से आरक्षण देना चाहती है। तर्क है कि प्रदेश में ओबीसी वर्ग की आबादी 50 फीसदी से ज्यादा है, लिहाजा उन्हें बढ़ा हुआ 27 फीसदी आरक्षण दिया जाना चाहिए। इसके विपरीत याचिकाकर्ता के वकील की अलग ही दलील है। उनका तर्क है कि सुप्रीम कोर्ट का इंदिरा साहनी का न्याय दृष्टांत हो, या मराठा रिजर्वेशन पर दिया गया फैसला, दोनों ही फैसलों से स्पष्ट है कि किसी भी लिहाज से मध्य प्रदेश में एससी/एसटी/ओबीसी को मिलाकर 50 फीसद से ज्यादा आरक्षण नहीं दिया जा सकता। ऐसे में अगर 27 फीसद आरक्षण मध्य प्रदेश में लागू किया जाता है तो सूबे में आरक्षण का प्रतिशत 63 फीसद हो जाएगा।
हाल ही में हुई सुनवाई के दौरान प्रदेश में ओबीसी वर्ग को बढ़ा हुआ यानि 27 फीसदी आरक्षण देने पर हाई कोर्ट ने रोक बरकरार रखी है। जबलपुर हाईकोर्ट ने साफ किया है कि फिलहाल ओबीसी वर्ग को पहले की तरह 14 फीसदी आरक्षण ही दिया जा सकेगा। इस केस की अगली सुनवाई अब 10 अगस्त को होनी है। सुनवाई के दौरान राज्य सरकार की ओर से कहा गया कि प्रदेश में कोराना की तीसरी लहर को देखते हुए डॉक्टर्स की नियुक्ति करना जरूरी है। इस पर हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को आदेश दिया है कि वो मैरिट लिस्ट तो 27 फीसदी ओबीसी आरक्षण के हिसाब से बना सकती है लेकिन डॉक्टर्स की नियुक्ति में 14 फीसदी ओबीसी आरक्षण ही दिया जा सकेगा। हाईकोर्ट ने मामले पर याचिकाकर्ताओं सहित राज्य सरकार से लिखित में अपनी बहस के बिंदु पेश करने के आदेश दिए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

वैक्सीनेशन को लेकर बड़ा ऐलान, 12 से 14 साल तक के बच्चों को मार्च से लगेंगे टीकेPunjab Election 2022: पंजाब में चुनाव की तारीख टली, अब 20 फरवरी को होगी वोटिंगUAE के अबूधाबी एयरपोर्ट पर तेल टैंकरों में विस्फोट, ड्रोन अटैक की आशंका'किसी को जबरदस्ती नहीं लगाई कोरोना वैक्सीन ', केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट में बतायाचुनाव आयोग का बड़ा फैसला, पत्रकारों सहित इन लोगों को मिलेगी पाँच राज्यों के चुनावों में पोस्टल बैलेट की सुविधाUP Election 2022: मुठ्ठी में अनाज भर अखिलेश यादव ने लिया अन्न संकल्प, जानिए किस बात की ली शपथशिवसेना ने 'सामना' के जरिए BJP पर साधा निशाना, कहा- दलित के घर भोजन करना महज दिखावाUttar Pradesh Assembly Election 2022 : तो क्या बेटी की लव मैरिज की वजह से कट गया विधायक का टिकट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.