दो चौराहों को छोड़कर जेब्रा कॉसिंग बनी दिखावा, देखें वीडियो

ट्रैफिक कंट्रोल में खानापूर्ति, सरेराह नियम तोड़ रहे वाहन चालक, नहीं की जा रही कार्रवाई

By: manoj Verma

Published: 04 Apr 2019, 07:39 PM IST

जबलपुर । शहर के नगर निगम और ब्लूम चौक चौराहों को छोड़कर शेष सभी चौराहों पर जेब्रा कॉसिंग दिखावा बन गई है। ये जेब्रा कॉसिंग तकनीकी रूप से सही बनाई नहीं गई है और न ही यहां वाहन चालक रुक रहे हैं। इससे प्रशासन द्वारा बनाई गई व्यवस्था चौपट हो रही है। यातायात को दुरुस्त करने की सारी योजनाओं पर पानी फिर रहा है। वाहन चालक सरेराह नियम तोड़ रहे हैं। यातायात विभाग कार्रवाई के नाम पर खानापूर्ति कर रहा है। चौराहों पर जब एक्सपोज टीम ने पड़ताल की तो यह सामने आया है कि सिग्नल देखकर वाहन जरूरत रुक रहे हैं लेकिन नियम विरुद्ध। जेब्रा लाइन को दरकिनार किया जा रहा है।
चौराहों-तिराहों पर सिग्नल लाइट और चौराहों के आसपास जेब्रा कॉसिंग बनाई गई है ताकि जेब्रा कॉसिंग के पहले वाहन खड़े हो सके और सामने से लाइट क्लीयर होने के बाद वे वाहन आगे चल सके। इसके लिए चौराहों के चारों रास्तों पर डिवाइड और उस उसके किनारे जेब्रा लाइन में स्टॉपर लाइन एवं लोगों के पैदल रास्ता पार करने के लिए सफेद लाइन के पट्टे बनाए गए हैं। यह जगह लोगों के पैदल जाने के लिए सुरक्षित की गई है।
ये है हकीकत
शहर में मात्र दो चौराहे एेसे हैं जिसमें जेब्रा कॉसिंग का सही इस्तेमाल किया जा रहा है। नगर निगम और ब्लूम चौक पर जेब्रा कॉसिंग के साथ यहां सिग्नल लगाया गया है। इन दोनों जगहों पर वाहन जेब्रा कॉसिंग के स्टॉपर लाइन के पहले वाहन रोके जा रहे हैं। सड़क पार करने के लिए जेब्रा लाइन का इस्तेमाल किया जा रहा है। ये जेब्रा कॉसिंग चौराहे पर एक सिरे को दूसरे सिरे को जोड़ रही है। लेकिन शहर के अन्य चौराहों की स्थिति यह है कि यहां बनाई गई जेब्रा कॉसिंग तकनीकी रूप से स्पष्ट नहीं है। कई जगहों पर जेब्रा लाइन के बीच में डिवाइडर आ रहा है, जिससे सड़क पार करने वाले लोग इसका इस्तेमाल नहीं कर पा रहे हैं। कुछ जगहों पर यह लाइन अधूरी है। तो कहीं पर यह लाइन दिखाई ही नहीं दे रही है।
रानीताल
रानीताल चौराहे पर जेब्रा लाइन बनाई गई है लेकिन इसका पालन नहीं हो रहा है। यहां जेब्रा लाइन पर वाहन खड़े हो रहे हैं, यह जेब्रा लाइन एक सिरे से दूसरे सिरे को नहीं जुड़ रही है। मौके पर यह देखा गया है कि यहां बल्देवबाग वाले रास्ते में जेब्रा लाइन स्पष्ट नहीं है। लाइन मिट गई है। सड़क के बीच में डिवाइडर का हिस्सा रुकावट पैदा कर रहा है। यहां डिवाइडर नहीं होने की वजह से लाल लाइट में वाहन चालक रांग साइट से वाहन लेकर निकल रहे हैं।
बल्देवबाग
बल्देवबाग सबसे व्यस्ततम चौक है। यहां से २२ कॉलोनियों का ट्रैफिक जुड़ा हुआ है। यहां मुख्य बाजार और आईएसबीटी के लिए रास्ता है, जिससे यहां हमेशा ट्रैफिक का दबाव रहता है। इस चौराहे की हकीकत यह है कि यहां पेट्रोल पंप के सामने जेब्रा लाइन बनाई गई है। यहां जेब्रा लाइन में डिवाइडर आ रहा है, जहां पैदल सड़क पार करने वालों के लिए कोई जगह नहीं बनाई गई है। यहां जेब्रा लाइन और उसकी स्टॉपर लाइन पर ही वाहन खड़े हो रहे हैं। यहां सिग्नल की भी लोग परवाह नहीं करते हुए वाहन निकाल रहे हैं। 

सिग्नल वाले चौराहों पर प्वाइंट नहीं लगाए जाते हैं। यदि जरूरत पड़ रही है तो ट्रैफिक की ओर से वहां प्वाइंट लगाया जाएगा और यातायात के नियमों को तोडऩे वालों पर कार्रवाई की जाएगी।
रमाकांत शुक्ला, थाना प्रभारी, यातायात

manoj Verma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned