scriptBharat Adivasi Party now become a challenge for Congress and BJP in Lok Sabha elections. | Rajasthan News : लोकसभा चुनाव में भाजपा-कांग्रेस को बड़ी चुनौती दे सकती है ये पार्टी | Patrika News

Rajasthan News : लोकसभा चुनाव में भाजपा-कांग्रेस को बड़ी चुनौती दे सकती है ये पार्टी

locationजयपुरPublished: Jan 22, 2024 08:01:55 am

Submitted by:

Kirti Verma

Rajasthan News : विधानसभा चुनाव में तीन सीटें जीतने वाली भारत आदिवासी पार्टी अब लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के लिए चुनाैती बन सकती है। आदिवासी अंचल में आने वाली उदयपुर, बांसवाड़ा-डूंगरपुर सीट पर यह पार्टी अपने प्रत्याशी उतारने की तैयारी कर रही है।

cb.jpg

Rajasthan News : विधानसभा चुनाव में तीन सीटें जीतने वाली भारत आदिवासी पार्टी अब लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के लिए चुनाैती बन सकती है। आदिवासी अंचल में आने वाली उदयपुर, बांसवाड़ा-डूंगरपुर सीट पर यह पार्टी अपने प्रत्याशी उतारने की तैयारी कर रही है।

भारत आदिवासी पार्टी (बीएपी) के चौरासी से विधायक राजकुमार रोत ने हाल में यह घोषणा की थी कि उनकी पार्टी अकेले चुनाव में उतरेगी और कांग्रेस या इंडिया गठबंधन में शामिल नहीं होगी। रोत ने यह भी कहा था कि कांग्रेस के साथ गठबंधन हाेना होता तो विधानसभा चुनाव में ही हो जाता। हमारी पार्टी अकेले ही लोकसभा चुनाव लड़ेगी। हम डूंगरपुर-बांसवाड़ा और उदयपुर की सीट जीतेंगे।

यह भी पढ़ें

राजस्थान के इस जिले का पोस्टल बैलेट फाॅर्मूला पूरे देश में होगा लागू

पिछले चुनाव में दो विधायक और इस बार तीन
पिछले विधानसभा चुनाव में भारत ट्राइबल पार्टी के बैनर पर दो विधायक जीते थे। इसमें एक राजकुमार रोत थे। इस बार यह पार्टी टूट कर भारत आदिवासी पार्टी के नाम से बनी। इसके बैनर पर तीन विधायक जीते। इसमें भी डूंगरपुर की चौरासी सीट से रोत को एक लाख 11 हजार से ज्यादा वोट मिले। रोत ने भाजपा के सुशील कटारा को 69 हजार वोट से हराया, वहीं आसपुर विधानसभा सीट पर उमेश डामोर ने भाजपा के गोपीचंद मीना को 28 हजार वोट से हराया। प्रतापगढ़ जिले के धरियावाद सीट पर भी इसी पार्टी के थावरचंद मीना जीते।

यह भी पढ़ें

सचिन पायलट ने बीजेपी सरकार पर साधा निशाना, राजीव गांधी युवा मित्रों के धरने पर पहुंचकर कही ये बात

कांग्रेस तीसरे स्थान पर
इन तीनों ही विधानसभा सीटों के चुनाव नतीजों में भाजपा दूसरे और कांग्रेस तीसरे स्थान पर रही। ऐसे में आने वाले चुनाव में आदिवासी पार्टी इन दोनों दलों के लिए मुश्किलें पैदा कर सकती हैं। पिछले दो लोकसभा चुनाव में उदयपुर और डूंगरपुर-बांसवाड़ा सीटों पर भाजपा ही जीत रही है।

ट्रेंडिंग वीडियो