‘महापंचायत’ से पहले ‘महा-कन्फ्यूज़न’! गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने कहा, ‘बैंसला की मांग गलत, सरकार ने वादा ही नहीं किया'

Gurjar Arakshan Andolan Latest Update : गुर्जर आरक्षण मामला, मांगों को लेकर समाज में ही नहीं दिख रही एकराय, कुछ गुर्जर नेता जता रहे कर्नल बैंसला की मांग पर एतराज़, गुर्जर नेता हिम्मत सिंह बोले- ‘बैंसला कर रहे गलत मांग’, सरकार के समझौते में है ही नहीं ‘बैकलॉग’ का वादा, ‘बैकलॉग’ की जगह ‘रिज़र्व’ पद की हो मांग

By: nakul

Updated: 07 Oct 2020, 05:16 PM IST

जयपुर।

गुर्जर आरक्षण आन्दोलन की रणनीति तय करने को लेकर 17 अक्टूबर को बुलाई गई महापंचायत से पहले अब गुर्जर समाज के बीच ही एक नया बवाल खड़ा हो गया। कुछ गुर्जर नेताओं ने आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला पक्ष की उस मांग पर एतराज़ जताया है जिसमें पिछली सरकारी भर्तियों में ‘बैकलॉग’ भरने की मांग की जा रही है।

एतराज़ जताने वाले गुर्जर नेता का कहना है कि सरकार ने समाज से पूर्व में हुए समझौते में कभी भी ‘बैकलॉग’ की मांग पूरी करने का वादा किया ही नहीं। ऐसे में समाज की ‘बैकलॉग’ भरने की मांग ही गलत है। इस धड़े के नेताओं का कहना है कि यदि ‘बैकलॉग’ शब्द को काम में लेकर मांग की जायेगी तो सरकार फिर से इसे नज़रअंदाज़ कर सकती है, जैसा कि पहले होता आया है।

‘समझौते का अध्ययन करें बैंसला’

सरकारी भर्तियों में बैकलॉग की मांग पर एतराज़ जताने वाले गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला से आरक्षण आन्दोलन के दौरान हुए समझौतों का अध्ययन करने की गुजारिश की है। उन्होंने कहा कि सरकार के साथ हुए किसी भी समझौते में एसबीसी या एमबीसी वर्ग के लिए बैकलॉग देने का कोई वायदा नहीं किया गया है।

उन्होंने कहा कि 6 मई 2010 के समझौते के अनुसार 4 प्रतिशत रिर्जव पद देने का वायदा किया गया है। लिहाजा समाज को ‘बैकलॉग’ की मांग नहीं करके ‘रिज़र्व’ पद की मांग करनी चाहिए तभी कोई समाधान निकलेगा।

‘समझौते के विपरीत मांग कभी पूरी नहीं होगी’

गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने कहा कि यदि समाज समझौते की विपरीत जाकर सरकार से मांग करेगा तो सरकार में बैठे अधिकारी माँग को नज़रअंदाज़ करेंगे जैसा कि 19 माह से देखने को मिल रहा है।

‘कांग्रेस-भाजपा विचारधारा से अलग होना होगा’

समाज के ही नेताओं का नाम लिए बगैर गुर्जर नेता हिम्मत सिंह ने निशाना साधते हुए कहा कि यदि समाज को एमबीसी युवाओं को सच में फ़ायदा दिलाना है तो कांग्रेस व भाजपा की विचारधारा से अलग होना पड़ेगा।

‘कांग्रेस घोषणा पत्र में ‘बैकलॉग’ शब्द का गलत प्रयोग’

बैंसला पक्ष की ‘बैकलॉग’ मांग पर एतराज जताते हुए हिम्मत सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने घोषणा-पत्र में एसबीसी या एमबीसी में बैकलॉग देने का वायदा किया जिसमें बैकलॉग शब्द का प्रयोग ग़लत किया गया लेकिन ज़रूरी नहीं है, गुर्जर समाज उसी शब्द का प्रयोग करे। सरकार से समझौता रिज़र्व पद के लिए हुआ है। उन्होंने कहा कि कैबिनेट सब कमेटी की बैठक में भी मंत्रियों और अधिकारियों का यही मानना है कि एमबीसी आरक्षण में बैकलॉग देने का प्रावधान ही नहीं है।

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned