scriptJaipur Girl Brutal Murder Case: Killer Mangesh On 5 Day Remand, Instigator Gaurav Also Arrested | जयपुर में युवती को कार से कुचलने के मामले में आरोपी मंगेश 5 दिन की रिमांड पर, उकसाने वाला गौरव भी गिरफ्तार | Patrika News

जयपुर में युवती को कार से कुचलने के मामले में आरोपी मंगेश 5 दिन की रिमांड पर, उकसाने वाला गौरव भी गिरफ्तार

locationजयपुरPublished: Dec 29, 2023 09:01:01 am

Submitted by:

Nupur Sharma

Jaipur Girl Brutal Murder Case: मालवीय नगर के गिरधर मार्ग पर युवती को कार से कुचलने के मामले में पुलिस ने गुरुवार को मुख्य आरोपी मंगेश के साथी गौरव नागपाल को गिरफ्तार कर लिया। वारदात के समय गौरव मंगेश के साथ था।

jaipur_girl_brutal_murder_case.jpg

Jaipur Girl Brutal Murder Case: मालवीय नगर के गिरधर मार्ग पर युवती को कार से कुचलने के मामले में पुलिस ने गुरुवार को मुख्य आरोपी मंगेश के साथी गौरव नागपाल को गिरफ्तार कर लिया। वारदात के समय गौरव मंगेश के साथ था। झगड़े के दौरान गौरव ने मंगेश को उकसाया, उसने कहा कि तू इतना कमजोर है क्या कि गाली खाकर जा रहा है। यह सुनने के बाद मंगेश गुस्से में आ गया और राजकुमार और उमा सुथार पर कार चढ़ा दी। वहीं, पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार मुख्य आरोपी मंगेश अरोड़ा को कोर्ट में पेश कर पांच दिन की रिमांड पर प्राप्त किया है। उधर, मृतका उमा सुथार का गुरुवार को नीमच स्थित उसके गांव खातीखेड़ा में अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान पूरा गांव मौजूद रहा।

जितेन्द्र को पता था घटनाक्रम, फिर भी की मदद: राजकुमार और उमा को कार से टक्कर मारने के बाद मंगेश अरोड़ा ने अपने दोस्त जितेन्द्र सिंह से मदद ली थी। मंगेश ने जितेन्द्र को बता दिया था कि वह झगड़े के बाद राजकुमार और उमा को कार से टक्कर मारकर आया है। इसके बाद जितेन्द्र ही मंगेश को अजमेर ले गया था। पुलिस अब मंगेश को भागने में मदद करने के आरोप में जितेन्द्र को गिरफ्तार कर सकती है।

यह भी पढ़ें

जयपुर में युवती की बेरहमी से हत्या: पहले उमा की मंगेश से थी दोस्ती, राजकुमार से 6 महीने पहले ही हुई पहचान, जानें हत्या की प्रमुख वजह



मंगेश की प्रेमिका की तलाश: होटल व उसके बाहर जब दोनों पक्षों के बीच झगड़ा हुआ था, तब मंगेश की गर्लफ्रेंड उसके साथ थी। इस झगड़े को भडक़ाने में उसकी कितनी भूमिका थी, इसकी भी पुलिस जांच कर रही है। हालांकि टक्कर मारने के बाद मंगेश ने उसे मालवीय नगर स्थित नंदपुरी अंडरपास के पास छोड़ दिया था। पुलिस अब उसके आबू स्थित घर पर टीम भेजेगी।

मंगेश ने भी चलाया था एक महीने क्लब: मंगेश ने भी एक महीने क्लब चलाया था। लेकिन इस काम में सफलता नहीं मिली तो उसने बंद कर दिया। क्लब चलाने के दौरान ही मंगेश की राजकुमार से मुलाकात हुई थी।

ट्रेंडिंग वीडियो