बना दिए दो नगर निगम, 1050 कर्मचारियों का बंटवारा अभी तक नहीं

सरकार ने राजधानी में दो नगर निगमों (Jaipur Municipal Corporation) का गठन कर आयुक्त लगाने के साथ अफसर भी बांट दिए, लेकिन करीब 1050 कर्मचारियों का बंटवारा (Staff distribution) अभी तक नहीं किया। वहीं जिन अफसरों का बंटवारा किया था, उन्हें नियुक्तियां देने से पहले ही फिर से पहले के जैसे दोनों निगमों का काम करने के आदेश जारी कर दिए।

By: Girraj Sharma

Published: 15 Jul 2020, 06:59 PM IST

बना दिए दो नगर निगम, 1050 कर्मचारियों का बंटवारा अभी तक नहीं
— नगर निगम जयपुर ग्रेटर व हेरिटेज नगर निगम का मामला
— कर्मचारियों का बंटवारा हो तो दोनों निगमों में अलग—अलग शुरू हो काम


जयपुर। सरकार ने राजधानी में दो नगर निगमों (Jaipur Municipal Corporation) का गठन कर आयुक्त लगाने के साथ अफसर भी बांट दिए, लेकिन करीब 1050 कर्मचारियों का बंटवारा (Staff distribution) अभी तक नहीं किया। वहीं जिन अफसरों का बंटवारा किया था, उन्हें नियुक्तियां देने से पहले ही फिर से पहले के जैसे दोनों निगमों का काम करने के आदेश जारी कर दिए। ऐसे में सरकार की अलग—अलग नगर निगमों का गठन करने की मंशा अभी मूर्त रूप नहीं ले पा रही है।

नगर निगम जयपुर का पुनर्गठन कर सरकार ने हेरिटेज नगर निगम जयपुर और नगर निगम जयपुर ग्रेटर बना दिए। सरकार ने अधिकारियों का बंटवारा कर अलग—अलग आयुक्त लगा दिए, लेकिन कर्मचारियों का बंटवारा नहीं होने से दोनों नगर निगमों का अलग—अलग काम शुरू नहीं हुआ है। दोनों नगर निगमों में अफसर और कर्मचारी अभी सामूहिक रूप से काम कर रहे है। हेरिटेज नगर निगम जयपुर में करीब 400 कर्मचारी लगाने है, वहीं जयपुर ग्रेटर में करीब 600 कर्मचारी लगाए जाएंगे। हालांकि सफाई कर्मचारियों का बंटवारा कर दिया गया है।

अभी यह स्थिति
जयपुर ग्रेटर और हेरिटेज के दोनों आयुक्त अभी मिलकर कर्मचारियों और अधिकारियों की सामूहिक बैठक कर रहे है। देानेां आयुक्त निगम की कार्यप्रणाली के बारे में जानकारी लेने के साथ जरूरत के हिसाब से कार्मिक और संसाधन बांटने के निर्देश दे रहे है।

23 जून को लगाए अफसर
स्वायत्त शासन विभाग ने 23 जून को नगर निगम जयपुर ग्रेटर और हेरिटेज नगर निगम जयपुर के कार्मिकों का बंटवारा किया। जयपुर ग्रेटर में 119 कार्मिकों के पद सर्जित किए। वहीं हेरिटेज नगर निगम में 91 कार्मिक के पद स्वीकृत किए। इसके बाद राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों का भी बंटवारा कर दिया गया। वहीं सफाई कर्मचारी भी दोनों नगर निगमों में अलग—अलग कर दिए।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned