राजस्थान: बाड़मेर सियासत के दो 'चौधरी' फिर आमने-सामने, जानें इस बार क्यूं गर्माया मामला?

- कोरोना संकट काल में भी जारी है सियासी बयानबाज़ी का सिलसिला, फिर आमने-सामने हुए केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी और राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, पचपदरा के सांभरा में शुरू हुए कोविड केयर सेंटर के बाद बढ़ी तल्खी, केंद्रीय मंत्री ने जिला प्रशासन पर लगाया भाजपा से भेदभाव का आरोप

 

By: nakul

Published: 12 May 2021, 02:04 PM IST

जयपुर।

बाड़मेर की सियासत में धुर विरोधी माने जाने वाले केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी और गहलोत सरकार में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी एक बार फिर आमने-सामने हैं। इस बार तल्खी की वजह बना है पचपदरा के सांभरा में महज़ 24 घंटे के दरम्यान बनकर तैयार हुआ कोविड केयर सेंटर। चौधरी की अगुवाई में तैयार हुए इस कोविड डेडिकेटेड सेंटर को लेकर 'वाह-वाही' का सिलसिला शुरू हुआ ही था कि केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने राजस्व मंत्री पर कच्चे मकान तोड़कर कोविड सेंटर बनाने का संगीन आरोप लगा दिया है। कोरोना काल के दौरान दोनों वरिष्ठ नेताओं के बीच सामने आई इस गर्माहट के बाद बाड़मेर क्षेत्र की सियासत फिर उबाल पर आई हुई है।



'भाजपा को प्रशासन नहीं देता अनुमति'
केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने बाड़मेर जिला प्रशासन पर भेदभाव का आरोप लगाते हुए गहलोत सरकार में मंत्री हरीश चौधरी पर 'हल्ला बोलना' शुरू कर दिया है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कई कि भाजपा कार्यकर्ता कोविड सेंटर संचालन की अनुमति मांगते हैं तो जिला प्रशासन अनुमति नहीं देता। लेकिन जिले में सत्ताधारी पार्टी के लोगों ने हर विधानसभा में एक-एक, दो-दो कोविड सेंटर शुरू कर दिए हैं, जहां उनको जरूरत लग रही है, वहां और भी कोविड सेंटर खोले जा रहे हैं।

'हमें सिर्फ डॉक्टर्स-नर्स चाहिए, बाकी व्यवस्था कर लेंगे'
चौधरी ने कहा कि जिला प्रशासन यदि भाजपा को कोविड सेंटर शुरू करने की अनुमति दे दे तो हम बेड लगाने, ऑक्सीजन, दवाई, खाना-पीने की व्यवस्था सहित सभी इंतज़ाम कार्यकर्ताओं के सहयोग से कर दिए जाएंगे। प्रशासन तो सिर्फ डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ देने में मदद कर दे।

हालांकि चौधरी ने ये भी कहा कि यह समय गंभीरता दिखाने का है न कि एक दूसरे पर आरोप लगाने का। चौधरी ने कहा कि कोरोना को खत्म करने के लिए हम सबको मिलकर काम करना है।

'कोरोना से जंग जीतने के बाद करेंगे विश्लेषण': हरीश चौधरी
इधर, केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी के आरोपों के जवाब में हरीश चौधरी ने कहा कि अभी हम सबको मिलकर काम करना चाहिए। जब आपदा से हम जीत जाएंगे तब सभी चीजों पर विश्लेषण कर लेंगे और दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

24 घंटे में बनकर तैयार हुआ था कोविड केयर सेंटर
कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने बायतु के सुदूर रेगिस्तानी गाँव सांभरा में चंद समय में ही हॉस्पिटल खड़ा कर दिया। इसमें डॉक्टर्स, नर्सिंगकर्मी, ऑक्सीजन, एम्बुलेंस और दवाइयों सहित सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं। इस काम को बाकायदा मंत्री ने स्वयं खड़े होकर पूरा करवाया। यह अस्पताल उन लोगों के लिए एक उदाहरण पेश कर रहा है जो लोग इस सप्ताह में अवसर तलाशते हुए सिर्फ खुद के प्रचार में व्यस्त हैं।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned