scriptNepal to move Everest base camp from melting glacier | माउंट एवरेस्ट का बेस कैंप बदलेगा नेपाल | Patrika News

माउंट एवरेस्ट का बेस कैंप बदलेगा नेपाल

पर्वतारोहण: ग्लेशियर पिघलने की वजह से मंडरा रहा खतरा

जयपुर

Published: June 19, 2022 02:50:17 am

काठमांडू. नेपाल (Nepal) माउंट एवरेस्ट बेस कैंप (Mount Everest base camp) को स्थानांतरित करने की तैयारी कर रहा है, क्योंकि जलवायु परिवर्तन और मानवीय गतिविधियां (Global warming and human activity) इसे असुरक्षित बना रही हैं। वसंत ऋतु में जब पवर्तारोहण का उपयुक्त समय होता है, उस दौरान लगभग 1,500 लोग एवरेस्ट बेस कैंप में होते हैं। यह बेस कैंप तेजी से पिघल रहे खुंबू ग्लेशियर (Khumbu glacier) पर स्थित है। स्थानीय प्रशासन अब कम ऊंचाई पर एक नए स्थान की खोज कर रहा है, जहां सालभर बर्फ नहीं होती।
नेपाल बदलेगा माउंट एवरेस्ट का बेस कैंप
नेपाल बदलेगा माउंट एवरेस्ट का बेस कैंप
बेस कैंप में दिखने लगी हैं दरारें
नेपाल सरकार (Nepali government) द्वारा गठित समिति की ओर से नए बेस कैंप की सिफारिश की गई है। स्थानीय समुदायों के साथ उनकी संस्कृति जैसे अन्य पहलुओं पर विचार करने के बाद यह स्थानांतरण वर्ष 2024 तक हो सकता है। पर्वतारोहियों को यहां सोते समय खतरनाक दरारें दिखाई दे रही हैं।
जलधारा का हो रहा विस्तार
अधिकांश ग्लेशियर चट्टानी मलबे से ढके हुए हैं, लेकिन बर्फीले क्षेत्र भी हैं, जिन्हें बर्फ की चट्टानें कहा जाता है। बर्फ की इन चट्टानों का पिघलना ही ग्लेशियर को सबसे ज्यादा अस्थिर बनाता है। जब बर्फ की चट्टानें पिघलती हैं तो इनके ऊपर का मलबा भी गिरता है और जल निकाय बन जाते हैं। बेस कैंप के ठीक बीच में एक धारा का लगातार विस्तार हो रहा है।
'खुंबू ग्लेशियर' बेस कैंप

  • वर्ष 1950 में स्थापित किया गया यह कैंप
  • 5,364 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है कैंप
  • 02 माह तक पर्वतारोही यहां रुकने के बाद करते हैं एवरेस्ट की चढ़ाई
  • वर्ष 2018 में हुए शोध के अनुसार कैंप के पास का खंड प्रतिवर्ष एक मीटर की दर से पतला हो रहा है

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के अगले सीएम, देवेंद्र फडणवीस ने किया ऐलानMaharashtra: एकनाथ शिंदे होंगे महाराष्ट्र के नए सीएम, आज शाम होगा शपथ ग्रहण समारोहAgnipath Scheme: अग्निपथ स्कीम के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने वाला पहला राज्य बना पंजाब, कांग्रेस व अकाली दल ने भी किया समर्थनPresidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: एकनाथ शिंदे ने कहा- 50 विधायकों का भरोसा कभी टूटने नहीं दूंगाMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.