script भजन लाल सरकार का बड़ा फैसलाः गहलोत सरकार की एक और बड़ी स्कीम का बंटाधार, 58 लाख लोग जुड़े थे इससे... अब अमान्य | Olympic Games held during Gehlot government will be investigated, Bhajan Lal government gave instructions, 150 crores were spent | Patrika News

भजन लाल सरकार का बड़ा फैसलाः गहलोत सरकार की एक और बड़ी स्कीम का बंटाधार, 58 लाख लोग जुड़े थे इससे... अब अमान्य

locationजयपुरPublished: Jan 31, 2024 08:34:34 am

Submitted by:

JAYANT SHARMA

Rajasthan News: इस सवाल के जवाब में ये सब कहा गया था।

cm_bhajan_lal_photo_2024-01-31_08-25-29.jpg
picture
Rajasthan News: गहलोत सरकार की योजनाएं सीएम भजन लाल शर्मा के निशाने पर हैं। वे पहले ही कह चुके हैं कि छह महीने में जो भी काम हुआ उसका रिव्यू कराया जाएगा। इसी काम में अब उनकी पूरी टीम लग गई है। पूर्व सीएम गहलोत की एक और बड़ी योजना का रिव्यू करना शुरू किया जा रहा है। इस योजना में उन्होनें विश्व रिकॉर्ड बनाया था, लेकिन अब यह रिकॉर्ड उनके लिए परेशानी खड़ी कर सकता है। बड़ी बात ये है कि इससे एक साथ 58 लाख से भी ज्यादा लोग जुड़े थे।

दरअसल शहरी और ग्रामीण ओलपिंक कराया गया था सीएम गहलोत की ओर से पिछली सरकार के दौरान। शहरी ओलंपिक में करीब बारह लाख से ज्यादा और ग्रामीण ओलंपिक में करीब 46 लाख लोग जुड़े थे। इन खेलों के दौरान जो खर्च हुआ अब वह भजन लाल सरकार के निशाने पर है। विधानसभा में खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि इसकी जांच होगी। गहलोत सरकार ने इन खेलों में टीशर्ट और पजामा खरीदने में ही 126 करोड़ खर्च कर दिए। इस आयोजन को लेकर विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए भी करोड़ों रुपयों का खर्चा बेवजह किया गया है। इस बारे में दरअसल निर्दलीय विधायक मनोज कुमार न्यांगली ने सवाल किया था। इस सवाल के जवाब में ये सब कहा गया था।
राठौड़ ने कहा कि इन खेलों में एक सौ पचास करोड़ से भी ज्यादा खर्च कर दिया गया। अब रिव्यू किया जा रहा है। राठौड़ ने कहा कि जब इन खेलों में किसी भी खिलाड़ी का नेशनल या इंटरनेशनल लेवल पर चयन नहीं हुआ तो फिर ये इतना खर्च क्यों.....? उल्लेखनीय है कि पूर्व सरकार की कई योजनाओं का वर्तमान सरकार रिव्यू कर रही है।

ट्रेंडिंग वीडियो