scriptराजस्थान में जानलेवा गर्मी में ब्रेन स्ट्रोक की चपेट में आ रहे लोग, एसएमएस अस्पताल में वार्ड हुए फुल | Patrika News
जयपुर

राजस्थान में जानलेवा गर्मी में ब्रेन स्ट्रोक की चपेट में आ रहे लोग, एसएमएस अस्पताल में वार्ड हुए फुल

प्रदेश में तेज गर्मी अब जानलेवा बनती जा रही है।

जयपुरMay 25, 2024 / 11:40 am

Manish Chaturvedi

जयपुर। प्रदेश में तेज गर्मी अब जानलेवा बनती जा रही है। धूप में निकलने से पहले आपको सावधान होने की जरूरत है। गर्मी के मौसम में सिर्फ हीट स्ट्रोक ही नहीं ब्रेन स्ट्रोक के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में जयपुर, जोधपुर, कोटा सहित सभी शहरों में ब्रेन स्ट्रोक के मरीजों की संख्या काफी ज्यादा आ रही है। डॉक्टर्स की मानें तो ब्लड प्रेशर और डायबिटीज के मरीजों में ब्रेन स्ट्रोक के मामले सबसे ज्यादा सामने आते हैं। इसका बड़ा कारण तेज गर्मी और अचानक से बदलता टेंपरेचर है।
हर दिन दस से ज्यादा ब्रेन स्टोक के मरीज…

एसएमएस अस्पताल में हर दिन दस से ज्यादा मरीज स्ट्रोक के आ रहे है। जिसकी वजह से वार्ड फुल हो गए है। जैसे जैसे गर्मी बढ़ी वैसे वैसे स्ट्रोक के मामले बढ़ते चले गए। पिछले महीने की तुलना में सवाई मानसिंह अस्पताल में ब्रेन स्ट्रोक के केस 30 फीसदी तक बढ़े हैं। लगातार भर्ती हो रहे मरीजों के कारण ब्रेन स्ट्रोक आइसीयू के बेड भी फुल हो गए हैं।
ओवरहीटिंग से ब्रेन स्ट्रोक का खतरा..

बढ़ते तापमान के कारण शरीर भी कई बार ओवरहीटिंग हो जाता है। जिसकी वजह से ओवरहीटिंग के सिग्नल देने लगता है। यदि उसे नजरंदाज कर इलाज नहीं करवाया जाए तो मरीज में दिमागी स्थिति बिगड़ने, बोलने में दिक्कत होने, चिड़चिड़ापन, उन्माद में बड़बड़ाने, दौरा पड़ने और कोमा में चले जाने का जोखिम बढ़ जाता है। कुछ मामलों में मल्टी-ऑर्गन डिस्फंक्शन जैसे बडे़ जोखिम भी हो सकते हैं। दिल, फेफड़ों और किडनी के पुराने रोग से पीड़ित लोग व 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को इस मौसम में टहलने या व्यायाम करने से बचना चाहिए।
युवा भी आ रहे चपेट में…

पहले ब्रेन स्ट्रोक के मरीज 40 से ज्यादा उम्र के लोग अधिकांश तौर पर आते थे। लेकिन अब तक 25 साल तक के युवा भी ब्रेन स्ट्रोक का शिकार हो रहे है। डॉक्टर्स का कहना है कि बढ़ते तापमान के कारण लोगों को अपना ध्यान रखना चाहिए। अब तापमान इतना बढ़ गया है कि उम्र का कोई मतलब नहीं है। कोई भी व्यक्ति स्ट्रोक का शिकार हो सकता है।
ऐसे रखे स्वयं का ख्याल..

— गर्मी से अचानक एसी में न जाएं और एसी से न तेज गर्मी में अचानक जाएं।
— बार बार पानी या अन्य तरल पदार्थ पीते रहे, जिससे शरीर में पानी की कमी नहीं हो
— 65 साल से ज्यादा के बुजुर्गों को इस समय ज्यादा व्यायाम नहीं करना चाहिए।
— लोगों को जरूरत होने पर ही घर से निकलना चाहिए, अन्यथा नहीं।
— दुपहिया वाहन चलाते समय रास्ते में बार बार स्टोपेज लेने चाहिए और पानी पीते रहना चाहिए।
— हल्के कपड़े पहनने चाहिए, जिसमें शरीर को हवा लगती रहे।
इनका कहना है…

वैसे तो स्ट्रोक के मरीज हमेशा आते रहते है। लेकिन इस तेज गर्मी हो गई है। जिसकी वजह से ब्रेन स्ट्रोक के मरीज भी बढ़ गए है। जिसका कारण शरीर में ओवरहीटिंग होना है। लोगों को इस समय स्वयं का खासा ध्यान रखने की जरूरत है।
डॉ दिनेश खंडेलवाल
न्यूरोलॉजिस्ट, एसएमएस अस्पताल, जयपुर

Hindi News/ Jaipur / राजस्थान में जानलेवा गर्मी में ब्रेन स्ट्रोक की चपेट में आ रहे लोग, एसएमएस अस्पताल में वार्ड हुए फुल

ट्रेंडिंग वीडियो