scriptRajasthan Jaipur Chinese attack on neck 2 Injured know matter | Rajasthan : जयपुर में चाइनीज अटैक, गर्दन पर वार से 2 लहूलुहान, जानें मामला | Patrika News

Rajasthan : जयपुर में चाइनीज अटैक, गर्दन पर वार से 2 लहूलुहान, जानें मामला

locationजयपुरPublished: Dec 24, 2023 03:05:32 pm

जयपुर में चाइनीज अटैक। दो लहूलुहान हुए। अस्पताल में इलाज चल रहा है। जानें मामला क्या है।

jaipur.jpg
SMS Hospital Jaipur
जयपुर में प्रतिबंधित या चाइनीज मांझे ने एक बार फिर शहर में कहर बरपा दिया। पतंगबाजी को दागदार करते हुए चाइनीज मांझे से जयपुर-दिल्ली हाईवे स्थित जयसिंह नगर में शनिवार को एक बाइक सवार का गला कट गया। गले से खून निकलता देख लोगों ने उसे एम्बुलेंस की मदद से एसएमएस अस्पताल भेजा जहां उसका उपचार चल रहा है। इसी तरह जवाहर नगर में शुक्रवार को एक महिला की मांझे से गर्दन कट गई। पहले भी कई बार चाइनीज मांझे के उपयोग से दोपहिया वाहन चालकों के गला कटने की घटनाएं हो चुकी हैं। इस तरह का मांझा पक्षियों के लिए भी जानलेवा साबित होता रहा है। बिजली के तारों से छूने पर करंट की आशंका बनी रहती है।


सांस की नली बची, 10 टांके आए

एसएमएस अस्पताल के ट्रोमा सेंटर के इंचार्ज डॉ. अनुराग धाकड़ ने बताया कि मांझे से कटने की वजह से सुरेन्द्र कुमार पहाड़िया (43 वर्ष) की गर्दन में दस टांके आए हैं। बस उसकी सांस की नली बच गई। उधर, जवाहर नगर निवासी लाजवन्ती का भी चाइनीज मांझे की चपेट में आने से गला कट गया। परिजन ने शुक्रवार देर रात उसे एसएमएस अस्पताल में भर्ती करवाया जहां उसकी सर्जरी की गई। उसके गले पर 18 टांके आए हैं।

यह भी पढ़ें

कांग्रेस का क्राउड फंडिंग अभियान, राजस्थान दूसरे नंबर पर, पहले का नाम चौंकाएगा



31 जनवरी तक रहेगी रोक

जयपुर में चाइनीज मांझे के इस्तेमाल पर पूरी तरह से बैन लगा दिया गया है। पुलिस कमिश्नर बीजू जॉर्ज जोसफ ने बाजार में बेचे जाने वाले जानलेवा मांझे पर रोक लगाने के आदेश जारी किए। पुलिस कमिश्नर जोसफ ने कहा मकर संक्रांति पर बाजार में प्लास्टिक, सिंथेटिक पदार्थ, लोहा-कांच व विषैले पदार्थ से बने मांझे की खरीद व बिक्री पर रोक लगाई है। धारा 144 के तहत इस संबंध में आदेश जारी किए गए हैं। यह आदेश 31 जनवरी तक लागू रहेगा।

इनका रखें ध्यान

- चाइनीज मांझे से पतंग न उड़ाएं।
- चाइनीज मांझा खरीदना और बेचना कानूनी अपराध है।
- वाहन चालक हेलमेट और मफलर का प्रयोग करें।

पतंगबाजी का गढ़ है जयपुर

जयपुर पतंगबाजी का गढ़ है। जयपुर का हांडीपुरा बाजार पतंग-डोर का प्रदेश का सबसे बड़ा बाजार है। हांडीपुरा बाजार में पतंगों की दो सौ से ज्यादा छोटी-बड़ी दुकानें हैं। इसके अलावा चारदीवारी के किशनपोल बाजार, अजमेरी गेट, जौहरी बाजार, घाटगेट, सूरजपोल बाजार, चांदपोल बाजार में पतंगों की सैकड़ों दुकानें हैं। पुलिस इसका ध्यान रखेगी कि किसी भी दुकान पर चाइनीज मांझा नहीं बिके।

यह भी पढ़ें

Rajasthan : विद्यार्थियों के लैपटॉप वितरण पर बड़ी न्यूज, मेधावियों को कब मिलेगा जानें

ट्रेंडिंग वीडियो