scriptRajasthan tourism season at its peak and by March the earning figure will cross Rs 100 crore | राजस्थान पर्यटन निगम, होटलों में ताले लगने की नौबत थी, अब मार्च तक इतना पहुंच सकता है आंकड़ा | Patrika News

राजस्थान पर्यटन निगम, होटलों में ताले लगने की नौबत थी, अब मार्च तक इतना पहुंच सकता है आंकड़ा

locationजयपुरPublished: Dec 24, 2023 10:21:00 am

Submitted by:

Kirti Verma

प्रदेश में कभी पर्यटन निगम की होटलों पर ताले लगने की नौबत थी। निजी होटलों से प्रतिस्पर्धा और बेहतर प्रबंधन से निगम के होटल और पैलेस ऑन व्हील्स अब निगम का खजाना भर रहे हैं। बीते 12 माह में निगम की होटलों, पैलस ऑन व्हील्स और अन्य गतिविधियों से करीब 80 करोड़ रुपए की कमाई हुई है।

rajasthan_tourism.jpg

प्रदेश में कभी पर्यटन निगम की होटलों पर ताले लगने की नौबत थी। निजी होटलों से प्रतिस्पर्धा और बेहतर प्रबंधन से निगम के होटल और पैलेस ऑन व्हील्स अब निगम का खजाना भर रहे हैं। बीते 12 माह में निगम की होटलों, पैलस ऑन व्हील्स और अन्य गतिविधियों से करीब 80 करोड़ रुपए की कमाई हुई है। निगम अधिकारियों का कहना है कि अभी पर्यटन सीजन पीक पर है और मार्च तक कमाई का आंकड़ा 100 करोड़ के पार होगा।

निजी होटलों की राह पर चले तो भरने लगा खजाना
2022 तक पर्यटन निगम के होटलों की हालत खस्ता थी। कई बार बैठकों में यह तय कर लिया गया था, कि होटलों को बंद कर लीज पर दे दिया जाए और पुरानी संपत्तियों को भी बेचा जाए। लेकिन, निगम अफसरों ने निजी होटलों की राह पर चलना शुरू किया। खर्चों में कटौती कर निगम ने दस करोड़ रुपए होटलों की दशा सुधारने पर खर्च किए।

होटलों से मिले 37 करोड़,गणगौर ने ही कमाए 15 करोड़
निगम अधिकारियों के अनुसार निगम की होटलें अब कमाई की राह पर है और होटलों से नवंबर तक 37 करोड़ रुपए का राजस्व मिला। ऐसे में 15 करोड़ रुपए से ज्यादा की कमाई जयपुर की गणगौर होटल से हुई है। इसके अलावा अलवर, सवाई माधोपुर, पुष्कर स्थित होटलें भी मोटी कमाई कर रही हैं।

यह भी पढ़ें

राजस्थान के इकबाल सक्का की बनाई स्वर्ण पादुका पहनेंगे अयोध्या में भगवान श्रीराम

पैलेस ऑन व्हील्स: मिलेंगे 10 करोड़

कोरोना काल में शाही ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स के पहिए थम गए थे। ट्रेन अब ठेके पर चल रही है और निगम का खजाना भी भर रही है। टेंडर की शर्तों के अनुसार निगम के खाते में प्रति फेरा 3 से 4 करोड़ आ रहे हैं। ट्रेन से 10 करोड़ का राजस्व निगम को मिलेगा।

खर्चों में कटौती और निजी होटलों की तर्ज पर प्रबंधन से निगम की होटलें घाटे से निकल गई और कमाई की राह पर हैं। मार्च तक 100 करोड़ का कारोबार होने की उम्मीद है।

-विजय पाल सिंह, एमडी पर्यटन निगम

यह भी पढ़ें

राजस्थान के संगमरमर से तैयार वेदी पर विराजमान होंगे रामलला

ट्रेंडिंग वीडियो