राजस्थान में सर्दी के तेवर तीखे, कुम्भलगढ़ में जमी बर्फ, शीतलहर से तीन डिग्री तक गिरेगा पारा

( Rajasthan Weather forecast today ) पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का असर प्रदेश में पडऩे लगा है। उत्तर से आने वाली हवा के असर से तापमान में गिरावट ( heavy winter in rajasthan ) आ रही है। हिमाचल, जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड में बारिश, बर्फबारी के बाद देश के अन्य हिस्सों में शीतलहर ( Rajasthan Weather forecast ) चलने लगी है।

abdul bari

December, 0901:13 AM

जयपुर
( Rajasthan Weather forecast today ) पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का असर प्रदेश में पडऩे लगा है। उत्तर से आने वाली हवा के असर से तापमान में गिरावट ( heavy winter in rajasthan ) आ रही है। मौसम विभाग के अनुसार अगले सप्ताह तक तापमान में और गिरावट आएगी। बर्फबारी के बाद शीतलहर से दो से तीन डिग्री तक पारा गिरेगा। हिमाचल, जम्मू-कश्मीर और उत्तराखंड में बारिश, बर्फबारी के बाद देश के अन्य हिस्सों में शीतलहर ( Rajasthan Weather forecast ) चलने लगी है।

राजधानी जयपुर में उत्तरी हवा का असर दिखने लगा है। तापमान में गिरावट हो रही है। रात के साथ दिन में भी सर्दी के तेवर तीखे हो रहे हैं। जयपुर का न्यूनतम तापमान 9.7 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम 24 डिग्री दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान 1 डिग्री, जबकि अधिकतम तापमान 2 डिग्री कम हुआ है। सीकर में न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री दर्ज हुआ।


बर्फ में बदली ओस


पर्यटन स्थल में माउंट आबू में रविवार को कड़ाके की सर्दी रही। यहां न्यूनतम तापमान में 3.6 डिग्री की गिरावट से पारा 2.4 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। अधिकतम तापमान में 3.2 डिग्री सेल्सियस का इजाफा होने से 22 डिग्री सेल्सियस पर रहा। वहीं सर्दी के कारण खुले में रखे वाहनों की छत पर ओस की बूंदें बर्फ में तब्दील हो गईं। जलाशयों के किनारे, उद्यानों में घास पर भी बर्फ जमी देखी गई।

कुम्भलगढ़ में बर्फ जमी


राजसमंद जिले के कुंभलगढ़ उपखंड की वरदड़ा ग्राम पंचायत स्थित सूरण की भागल में शनिवार-रविवार दरमियान रात्रि पारा जमाव बिंदु पर पहुंच गया। खेतों, घर की छतों पर रखा पानी एवं खेतों में बने धोरे में पानी जम गई। सुबह-सुबह जब बच्चे एवं घर के सदस्य खेतों, छतों पर गए तो देखकर हैरान हो गए कि बर्तनों में रखा पानी पूरी तरह से बर्फ बन चुका था। खेतों के धोरों में बहने वाला पानी भी सुबह होते-होते जम गया। सरपंच रेखा पंवार ने बताया कि शनिवार शाम से ही हाथ-पैरों में गलन महसूस हो रही थी। वेरों का मठ के आस-पास खेतों एवं घरों की छतों पर रखे बर्तनों एवं नालियों में पानी जम गया था, लेकिन इस बार जनवरी की बजाय दिसम्बर में ही पारा जमाव बिन्दु पर आ गया है।


अन्य जिलों में यह रही तापमान की स्थिति
शहर ---अधिकतम--- न्यूनतम

अजमेर--- 23.8 ---9.7
कोटा--- 24.0 ---9.8
बाड़मेर--- 27.1--- 11.4
जैसलमेर--- 24.7--- 9.2
जोधपुर--- 25.9--- 10.7
बीकानेर ---24.2 ---8.0
चूरू ---23.2 ----7.0
श्रीगंगानगर--- 25.0--- 6.9

यह खबरें भी पढ़ें...

बिजनेसमैन के अपहरण के बाद पुलिस ने दिखाई मुस्तैदी, चार घंटे में बदमाशों के चंगुल से छुड़ाया, चार गिरफ्तार


शराब के नशे में बस चालक ने की कुचलने की कोशिश, तो पुलिसकर्मियों ने छलांग लगाकर बचाई जान


पड़ोसी के घर नहाने आए किशोर की बिगड़ी नियत, नाबालिग से किया बलात्कार का प्रयास

Show More
abdul bari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned