ढाई साल के बच्चे के साथ माता—पिता ने ऐसा क्यों किया, आसूं नहीं रोक सके लोग

घटना राजस्थान के चूरू जिले की है। मामले की जांच कर रही पुलिस ने बताया कि सुजानगढ़ शहर में रहने वाले दम्पत्ति ने यह कदम उठाया।

By: JAYANT SHARMA

Updated: 01 Sep 2020, 12:11 PM IST


जयपुर
पति ने पत्नी से काम पर जाने की कही और उसके बाद घर के पिछले वाले कमरे में आकर फांसी का फंदा लगा लिया। पत्नी वहां किसी काम से आई तो पति की हालत देखकर दंग रह गई और कमरे में जाकर खुद ने भी विषाक्त खा लिया। अस्पताल में ले जाने के बाद उसकी भी मौत हो गई। कुछ ही देर में मां और पिता की मौत के बाद ढाई साल का बच्चा अनाथ हो गया। मां के शव के पास ही रोते बच्चे को जिसने भी देखा उसकी आंखे नम हो गई।

घटना राजस्थान के चूरू जिले की है। मामले की जांच कर रही पुलिस ने बताया कि सुजानगढ़ शहर में रहने वाले दम्पत्ति ने यह कदम उठाया। देर शाम सुजानगढ़ के नया बास राजकीय भराडिया स्कूल के पीछे किराए के मकान में रहने वाले महाराष्ट्र निवासी हनुमंत ने घर के कमरे में फांसी का फंदा लगा लिया। उसे पंखे से लटककर जान दे दी। पत्नी राधिका ने पति की हाला देखी तो खुद की भी जान दे दी। दोनो के शवों को राजकीय अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया गया है।

आसपास रहने वाले लोगों से जानकारी जुटाई तो पता चला कि किराये के मकान में रहने वाले दम्पत्ति सुजानगढ़ में ही सोने—चांदी की पॉलिश का काम करते थे। सुसाइड़ के कारणों का खुलासा तो नहीं हो सका है लेकिन मौके के अलामात के आधार पर पुलिस का यही कहना है कि मौत संभव है आर्थिक तंगी के कारण हुई है। उधर मां की मौत के बाद ढाई साल के मासूम का रो रोकर बुरा हाल है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned