JAISALMER NEWS- विशेषज्ञों ने उन्नत तकनीक के उपयोग से बताया आय बढ़ाने का तरिका

- कृषि विभाग की तीन संगोष्ठियों में 300 से अधिक किसानों ने लिया भाग

By: jitendra changani

Published: 03 May 2018, 02:30 PM IST

जैसलमेर. सरहदी जैसलमेर जिले के किसानों की आय को बढ़ाने के लिए कृषि विभाग की ओर से बुधवार को संगोष्ठी आयोजित की गई। संगोष्ठी में किसानों को कम लागत और उच्च तकनीक से आय में बढ़ाने के तरिके समझाये गए। जिले की जैसलमेर, सम और सांकड़ा पंचायत समिति की ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आयोजित संगोष्ठियों में किसानों को उन्नत तकनीक का उपयोग करने के साथ सरकार की ओर से दिए जा रहे अनुदान और योजनाओं से लाभान्वित होने का तरिका भी बताया गया।
यह दी जानकारी
ग्राम स्वराज अभियान के अंतर्गत किसान कल्याण कार्यशाला व किसान गोष्ठी में 2022 तक किसानो की आय दुगनी करने सम्बंधी कार्यनीति पर चर्चा की गई। इस दौरान कृषि विभाग के उपनिदेशक राधेश्याम नारवाल, कृषि विज्ञान केंद्र पोकरण के प्रभारी वैज्ञानिक डॉ केडी खिडिय़ा, उद्यान विभाग के अधिकारी खींयाराम, कृषि अधिकारी (प्रशिक्षण) सुभाषचन्द्र, ब्लॉक तकनीकी प्रबंधक सहायक कृषि अधिकारी सम कृष्ण कुमार, सम ब्लाक के सहायक कृषि अधिकारी, कृषि प्रयवेक्षक एवं पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेश ने किसानो की आय दुगनी करने सम्बंधी कार्यनीति पर चर्चा की। डॉ. राजेश ने कृषको को पशुओ कि बीमारियों से बचाव के लिए टीकाकरण, आहार प्रबन्धन की जानकारी दी।

Jaislamer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

ऐसे बढ़ाए आय
विशेषज्ञों ने किसानों को स्थायी आय के लिए पशुपालन और उद्यानिकी खेती को अपनाने की सीख दी। उनहोंने कृषको को किसानो की आय दुगनी करने के लिए भण्डारण संरचनाओ के निर्माण एंव समर्थन मूल्य पर सभी कृषि उपजो की खरीद का सुझाव दिया। उद्यान विभाग के अधिकारी खींखराम ने उद्यानिकी खेती से स्थायी आय बढ़ाने के साथ कमाई पोषित करने के लिए खेत में जल बचत एंव जल के कुशलतम उपयोग के लिये बूंद-बूंद सिंचाई संयत्र, माईक्रो स्प्रिंकलर फव्वारा लगाने, उर्जा बचत एंव उत्पादन के लिए सौर उर्जा संयत्र स्थापित करने की सीख दी। वैज्ञानिक डॉ. केडी खिडिय़ा ने किसानो की आय दुगनी करने के सबंध में जैसलमेर के परीपेक्ष्य मे उन्नत कृषि उद्यानिकी व पशुपालन तकनिकों की जानकारी कृषकों को दी और कृषकों को फसल भण्डारण, कटाई उपरांत प्रबंधन की जानकारी दी।
यहां हुई कार्यशालाएं
जिले में फतेहगढ़, भणियाणा और आसकन्द्रा में अलग-अलग कार्यशालाएं आयोजित की गई। कार्यशाला में तीन सौ से अधिक किसानों को विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी गई। सुबह साढ़े दस से शाम साढ़े पांच बजे तक आयोजित कार्यशाला में किसानों को अलग-अलग सत्र में उद्यानिकी, पशुपालन, कृषि यंत्रों, खाद-बीद के उपयोग की तकनीक सबंधी जानकारी दी गई। भणियाणा में सहायक उपनिदेशक रणजीतसिंह सर्वा, कृषि अधिकारी छुगसिंह के साथ कृषि वैज्ञानिक और पशु चिकित्सकों ने विभिन्न जानकारियां दी।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned