छात्रसंघ चुनाव का पता नहीं और प्रचार शुरू ! स्वयंभू प्रत्याशी इस तरह कर रहे है शहर को बदसूरत

छात्रसंघ चुनाव का पता नहीं और प्रचार शुरू ! स्वयंभू प्रत्याशी इस तरह कर रहे है शहर को बदसूरत

Deepak Vyas | Publish: Aug, 12 2018 07:08:05 PM (IST) Jaisalmer, Rajasthan, India

-सामने आ रहे महाविद्यालय छात्रसंघ चुनाव के स्वयंभू प्रत्याशी
-सार्वजनिक स्थानों पर पोस्टर चस्पा कर शहर को कर रहे बदसूरत

जैसलमेर. स्वर्णनगरी की ऐतिहासिक इमारतों से लेकर मुख्य बाजारों और चौराहों पर लगी घुमटियों तक पर स्थानीय एसबीके कॉलेज के छात्रसंघ चुनाव संबंधी प्रचार सामग्री चस्पा कर दिए जाने से माहौल चुनावी बन रहा है। जबकि वास्तविकता यह है कि महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव को लेकर अभी तक कोई घोषणा सरकार की ओर से नहीं की गई है। शहर के हनुमान चौराहा से गड़ीसर प्रोल तक के मुख्य बाजारों से लेकर बाहरी मार्गों तथा सोनार दुर्ग की प्राचीर तक पर प्रचार सामग्री चस्पा कर दिए जाने से वे बदसूरत हो रहे हैं। यह पहली बार नहीं है, जब कॉलेज चुनावों के कारण शहर की दीवारों को बदरंग किया गया हो।इस पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं किए जाने से यह प्रवृत्ति हर साल देखने में आ रही है।
सूत न कपास...
एसबीके महाविद्यालय छात्रसंघ चुनाव के अध्यक्ष पद को लेकर अभी तक कुछेक स्वयंभू उम्मीदवार सामने आए हैं। उन्होंने पोस्टर छपवाकर जहां-तहां दीवारों पर चिपकवा दिए हैं।जबकि महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव को लेकर कोई तारीख घोषित नहीं हुई है। जानकारों के मुताबिक इस साल राज्य में विधानसभा चुनाव होने हैं।यही वजह है कि सरकार महाविद्यालयों व विश्वविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव करवाएगी, इसमें संषय बरकरार है। चुनाव कार्यक्रम की घोषणा नहीं होने के बावजूद प्रत्याशियों के सामने आने से सूत न कपास जुलाहों में लठ्ठमलठ्ठा वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। यहां यह भी गौरतलब है कि गत दिनों सोशल मीडिया पर छात्रसंघ चुनाव की तारीखों के एलान की बोगस सूचनाएं भी प्रसारित हो चुकी हैं। जहां तक जैसलमेर मुख्यालय स्थित महाविद्यालयों का सवाल है, यहां एसबीके राजकीय महाविद्यालय में करीब 1400 और मिश्रीलाल सांवल राजकीय महिला महाविद्यालय में 345 मतदाता थे।

नहीं मिले दिशा निर्देश
महाविद्यालय छात्रसंघ चुनाव करवाने को लेकर निदेषालय की तरफ से फिलहाल किसी तरह की सूचना प्राप्त नहीं हुई है।
-डॉ. एलएन नागौरी, प्रधानाचार्य, एमएल सांवल महिला कॉलेज, जैसलमेर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned