script राज्य स्तरीय डेजर्ट ट्रैकिंग का समापन | State level desert trekking concludes | Patrika News

राज्य स्तरीय डेजर्ट ट्रैकिंग का समापन

locationजैसलमेरPublished: Dec 24, 2023 08:30:27 pm

Submitted by:

Deepak Vyas

‘जीवन जीने की कला सिखाती है स्काउटिंग’
फोटो है ....

 

राज्य स्तरीय डेजर्ट ट्रैकिंग का समापन
पांच दिवसीय राज्य स्तरीय डेजर्ट ट्रैकिंग के समापन समारोह में उप​िस्थत संभागी।

राजस्थान राज्य भारत स्काउट गाइड राज्य मुख्यालय जयपुर के तत्वावधान में आयोजित पांच दिवसीय राज्य स्तरीय डेजर्ट ट्रैकिंग का समापन समारोह मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी एवं जिला मुख्य आयुक्त स्काउट नैनाराम जाणी के मुख्य आतिथ्य तथा राज्य संगठन आयुक्त पूरण सिंह शेखावत की अध्यक्षता में हुआ। इस दौरान गीता आश्रम ट्रस्ट के अध्यक्ष राजेंद्र व्यास, सहायक राज्य संगठन आयुक्त जोधपुर बाबूसिंह राजपुरोहित, संजय हर्ष रोवर लीडर, रमेश दत्त सुथार मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी विशिष्ट अतिथि के तौर पर मौजूद थे। समापन समारोह में रोवर रेंजर को संबोधित करते हुए मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी नैनाराम जाणी ने कहा कि युवाओं को राष्ट्रीय हित सर्वोपरि रखना चाहिए एवं स्काउट गाइड संगठन के माध्यम से देशए समाज के लिए योग्य नागरिक बनते हुए अपने व्यक्तित्व का निर्माण करें। गीता आश्रम के अध्यक्ष राजेंद्र व्यास ने जैसलमेर के इतिहास विकास पर प्रकाश डाला। कैंप चीफ एवं राज्य संगठन आयुक्त पूरण सिंह शेखावत ने शिविर का प्रतिवेदन पेश किया। उन्होंने बताया कि पुराने 33 जिलों में से 31 जिलों की सहभागिता रही, जिसमें 91 रोवर्स, 88 रेंजर्स, 05 सर्विस रोवर रेंजर तथा 9 सदस्यीय संचालक दल की सहभागिता रही। रोवर रेंजर ने सोनार का किलाए पटवा हवेली, घंटियाली माता, गड़ीसर लेक, तनोट माता, भारत पाक बॉर्डर, लोंगेवाला, सम के धोरे, खाबा फोर्ट, कुलधरा सहित विभिन्न दर्शनीय स्थलों का अवलोकन किया। इस दौरान 60 किलोमीटर पैदल ट्रैकिंग कर जैसलमेर की जैव विविधता एवं प्रकृति का गहनता से अध्ययन किया। समापन समारोह अवसर पर अतिथियों ने ट्रैकिंग में भाग लेने वाले सभी रोवर्स रेंजर्स को उत्कृष्ट कार्य प्रदर्शन करने पर स्मृति चिह्न एवं प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया। सीओ स्काउट नरेंद्र खोरवाल ने बताया कि शिविर के अंतिम दिन प्रात: काल सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान प्रात: स्मरामि, नाम धुन, राम धुन, गुरु वंदना, सरस्वती वंदना विभिन्न धर्मों की प्रार्थनाओं का वाचन किया गया।

ट्रेंडिंग वीडियो