धान खरीदी के आखिरी दिन 20 फरवरी की रात 12 बजे धान खरीदी का सॉफ्टवेयर हो जाएगा लॉक

Paddy News: इस बार तौल और डाटा एंट्री के लिए नहीं मिलेगा अतिरिक्त समय, रिकार्ड 78 लाख क्विंटल हो चुकी खरीदी

जांजगीर-चांपा. समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के आखिरी दिन 20 फरवरी की रात ठीक 12 बजे सॉफ्टवेयर लॉक कर दिया जाएगा। इसके चलते इस बार ज्यादा आवक की स्थिति में धान के तौल या डाटा एंट्री के लिए अतिरिक्त समय नहीं मिलेगा।

दरअसल, अब तक ज्यादा आवक और अंतिम दिन तौल नहीं हो पाने की स्थिति में अतिरिक्त समय देकर तौल व डाटा एंट्री कराई जाती थी। ऐसी स्थिति से बचने के लिए इस पर पहले से ही तैयारियों के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं। इसमें अंतिम दिन 20 फरवरी को निर्धारित समय में ही तौल व डाटा एंट्री कर लिए जाने कहा गया है। अंतिम दिन भीड़ की स्थिति से बचने बचे हुए किसानों से संपर्क कर व मुनादी कराकर पहले ही धान की खरीदी पूरी कर लेने कहा गया है। 20 फरवरी के बाद किसी भी स्थिति में सॉफ्टवेयर नहीं खोले जाने तक की चेतावनी भी दिए जाने की बात कही जा रही है।

Read More: कचरा कलेक्शन कर एसएलआरएम सेंटर लौट रही दो महिला सफाई कर्मियों को यात्री बस ने लिया चपेट में, एक की मौत

चार हजार किसान धान बेचने नहीं पहुंचे अब तक
समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए इस बार एक लाख 73 हजार किसानों ने पंजीयन कराया था। इनमें से अब तक एक लाख 69 हजार किसानों ने धान बेच दिया है। इस तरह करीब 4 हजार किसान धान बेचने अब तक केंद्रों में नहीं पहुंचे हैं। हालांकि जिले में पिछले सालों का रिकार्ड देखकर अफसरों का कहना है कि ऐसी स्थिति नहीं होगी क्योंकि अब छोटे किसान ही बचे हैं। वहीं हर साल सभी किसान धान नहीं बेचने आते। 2 से 3 प्रतिशत हर साल शेष रह ही जाते हैं।

अब तक का टूटा रिकार्ड, 78 लाख क्विंटल खरीदी
जिले में रिकार्ड 78 लाख क्विंटल धान की खरीदी हो चुकी है जबकि लक्ष्य 80 लाख क्विंटल रखा गया है। इस हिसाब से बाकी बचे 4 दिनों में 4 हजार किसानों से 2 लाख क्विंटल धान खरीदना होगा। इस साल धान खरीदी का आंकड़ा देखें तो पिछले सभी सालों का रिकार्ड अभी से टूट चुका है। पिछले साल 75.73 लाख क्विंटल धान की खरीदी हुई है। पांच सालों का रिकार्ड देखें तो यह आंकड़ा सबसे ज्यादा है मगर इस साल यह रिकार्ड भी टूट गया। सवा दो लाख क्विंटल से ज्यादा की खरीदी हो चुकी है और चार दिन की खरीदी होनी अभी और बाकी है।

Read More: खदान की सुरक्षा खतरे में, डीजल व कबाड़ चोर गिरोह ने किया ये काम

27 लाख क्विंटल का परिवहन शेष
जिले के 209 खरीदी केंद्रों में अभी भी 27 लाख क्विंटल के करीब धान का परिवहन होना बाकी है। अफसरों के मुताबिक प्रतिदिन एक लाख क्विंटल धान का उठाव किया जा रहा है। इस हिसाब से उठाव में महीने दिन का समय लग सकता है। खरीदी केंद्रों से जल्द से जल्द उठाव कर संग्रहण केंद्रों में भंडारण करने पर जोर दिया जा रहा है।

-20 फरवरी तक खरीदी होगी। रात 12 बजे सॉफ्टवेयर लॉक हो जाएगा। 78 लाख क्विंटल से ज्यादा की धान खरीदी हो चुकी है। करीब 4 हजार किसान ही अब शेष है। चार दिनों में शेष किसानों से भी खरीदी कर लेंगे। अश्वनी पांडेय नोडल आफिसर

Vasudev Yadav Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned