script उपार्जन केद्रों में धान का लगा पहाड़, 19 लाख क्विंटल धान जाम | There is a mountain of paddy in the procurement centers, 19 lakh quint | Patrika News

उपार्जन केद्रों में धान का लगा पहाड़, 19 लाख क्विंटल धान जाम

locationजांजगीर चंपाPublished: Feb 02, 2024 09:29:48 pm

Submitted by:

Anand Namdeo

उपार्जन केंद्रों में धान का पहाड़ लग गया है। स्थिति यह है कि डीओ कटने के 10 से 15 दिन बाद भी उठाव नहीं हो पा रहा है।

उपार्जन केद्रों में धान का लगा पहाड़, 19 लाख क्विंटल धान जाम
उपार्जन केद्रों में धान का लगा पहाड़, 19 लाख क्विंटल धान जाम
जिले के उपार्जन केंद्रों में 19 लाख क्विंटल से ज्यादा धान जाम पड़ा हुआ है। उसना मिलर्स उठाव नहीं कर रहे हैं। ऐसे में उपार्जन केंद्रों में धान का पहाड़ नजर आ रहा है। अब तक जिले में 63 लाख क्विंटल से ज्यादा धान की खरीदी हो चुकी है। इसमें से 44 लाख क्विंटल ही धान का उठाव हो पाया है। बाकी धान खुले आसमान के तले पड़े हुआ है। दरअसल, अरवा का जब तक उठाव चल रहा था तब तक धान उठाव की रफ्तार अच्छी रही लेकिन जैसे ही अरवा की लिमिट खत्म हुई और उसना का उठाव शुरू हुआ तब से उठाव की रफ्तार धीमे पड़ गई है। इधर धान खरीदी के लिए 4 फरवरी तक समय बढ़ा गई है। ऐसे में बचे किसान धान बेचने पहुंच रहे हैं जिससे बफर लिमिट पार हो चुके उपार्जन केंद्रों में धान रखने अब परेशानी हो रही है। इधर वर्तमान में अफसरों का पूरा फोकस केवल धान खरीदी में है क्योंकि अंतिम दिनों में बाहरी जिलों से धान लाकर खपाने की कोशिश की जा रही है। अवैध धान को लेकर जिला प्रशासन सभी उपार्जन केंद्रों में नजरें बनाए हुआ है। उठाव की रफ्तार धान खरीदी बंद होने के बाद ही बढऩे की बात अफसरों के द्वारा की जा रही है।

इधर कई केंद्रों में टोकन नहीं कट रहा


बता दें, चार फरवरी तक खरीदी की तारीख बढ़ाई है। ऐसे में धान खरीदी की प्रक्रिया अभी से शुरू है और किसान धान बेचने पहुंच रहे हैं। मगर बताया जा रहा है कि कई उपार्जन केंद्रों में किसानों का टोकन नहीं काटा जा रहा है। इससे किसानों को परेशान होना पड़ रहा है। इधर अफसरों का कहना है कि उपार्जन केंद्रों में टोकन काटा जा रहा है। तकनीकी त्रुटि के वजह से भले ही ऑनलाइन टोकन काटने में परेशानी हो रही होगी लेकिन प्राथमिकता के साथ किसानों को टोकन जारी हो रहा है।

धान उपार्जन केंद्रों का नियमित रूप से निरीक्षण किया जा रहा है। गड़बड़ी मिलने पर कार्रवाई भी की जा रही है। टोकन काटने संबंधित कहीं कोई समस्या नहीं है। सभी जगह टोकन काटा जा रहा है। बीच में ऑनलाइन टोकन में तकनीकी समस्या की जानकारी मिली थी, हो सकता है इस वजह से कहीं टोकन न कटा हो। बाकी नियमित टोकन जारी हो रहा है।
आरएल तिवारी, नोडल आफिसर

ट्रेंडिंग वीडियो