scriptIf you are going to Jhansi write new number VGLB for train reservation | झांसी जाने वाले हैं तो ट्रेन रिजर्वेशन के लिए लिखे नया नम्बर, रेलवे ने किया बड़ा बदलाव | Patrika News

झांसी जाने वाले हैं तो ट्रेन रिजर्वेशन के लिए लिखे नया नम्बर, रेलवे ने किया बड़ा बदलाव

ट्रेन से झांसी जाने वालों को अलर्ट रहना पड़ेगा। झांसी का रिजर्वेशन कराने पर आईआरसीटीसी हो सकता है कि आप का आवेदन न स्वीकारे। वजह यह है कि, झांसी रेलवे स्टेशन का नाम और कोड दोनों ही बदल गए हैं। झांसी रेलवे स्टेशन का नाम अब बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन कर दिया गया है।

झांसी

Published: January 01, 2022 01:45:19 pm

झांसी. ट्रेन से झांसी जाने वालों को अलर्ट रहना पड़ेगा। झांसी का रिजर्वेशन कराने पर आईआरसीटीसी हो सकता है कि आप का आवेदन न स्वीकारे। वजह यह है कि, झांसी रेलवे स्टेशन का नाम और कोड दोनों ही बदल गए हैं। झांसी रेलवे स्टेशन का नाम अब बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन कर दिया गया है। और झांसी जाने के लिए रेलवे टिकट की बुकिंग कराने पर 'जेएचएस' कोड के स्थान पर 'वीजीएलबी (VGLB)' कोड डालना होगा।
झांसी जाने वाले हैं तो ट्रेन रिजर्वेशन के लिए लिखे नया नम्बर, रेलवे ने किया बड़ा बदलाव
झांसी जाने वाले हैं तो ट्रेन रिजर्वेशन के लिए लिखे नया नम्बर, रेलवे ने किया बड़ा बदलाव
प्रयागराज में उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी शिवम शर्मा ने बताया, उत्तर प्रदेश सरकार की अधिसूचना के बाद रेलवे ने बृहस्पतिवार को अपने कंप्यूटर सिस्टम में झांसी रेलवे स्टेशन का कोड बदल दिया है। उन्होंने आगे कहा, पहले झांसी रेलवे स्टेशन का कोड ‘जेएचएस' था. अब नाम बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन होने के बाद इसका कोड 'वीजीएलबी (VGLB)' हो गया है।
यह भी पढ़ें

रेलवे ने 208 ट्रेनों को किया रद्द सफर से पहले चेक करें लिस्ट

रेल टिकट बुक करने को डालना होगा वीजीएलबी कोड - शिवम शर्मा ने बताया ने कहा, अब आपको झांसी का रेल टिकट बुक कराने के लिए 'वीजीएलबी' कोड डालना होगा। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने इस बाबत अधिसूचना पहले ही जारी कर दी थी।
यूपी का चौथा रेलवे स्टेशन है झांसी, जिसका बदला गया नाम - गृह मंत्रालय के प्रस्ताव पर 29 दिसम्बर 2021 को प्रदेश सरकार ने अधिसूचना जारी कर दी है। प्रदेश शासन के प्रमुख सचिव नितिन रमेश गोकर्ण ने जारी अधिसूचना में बताया कि अब झांसी रेलवे स्टेशन का नया नाम वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन होगा। अब झांसी नाम इतिहास बन जाएगा। इससे पहले योगी सरकार ने तीन प्रमुख स्टेशन इलाहाबाद को प्रयागराज, मुगलसराय को दीनदयाल उपाध्याय नगर और फैजाबाद को अयोध्या रेलवे स्टेशन का नाम दे चुकी है।
यह भी पढ़ें

रेलवे ने 30 दिसंबर से बदला नियम, न जानने पर होगा आपका भारी नुकसान

अंग्रेजों ने 1880 में बनवाया था रेलवे स्टेशन - रानी लक्ष्मीबाई के निधन के बाद अंग्रेजों ने 1880 के आखिर में ये रेलवे स्टेशन बनवाया था। झांसी का रेलवे स्टेशन देश के सबसे महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशनों में एक है। इसका प्लेटफॉर्म आम रेलवे प्लेटफार्म से ज्यादा लंबे है। इस पर एक साथ दो ट्रेनों को हैंडल किया जा सकता है।
‘झाँई सी’ से हुआ शहर का नाम झांसी - झांसी वैसे तो 9वीं शताब्दी में बसा था। झांसी के क़िले का निर्माण 1613 ई. में ओरछा शासक वीरसिंह बुन्देला ने करवाया था। बताया जाता है कि, राजा वीरसिंह बुन्देला ने दूर से पहाड़ी पर एक छाया देखी, जिसे बुन्देली भाषा में ‘झाँई सी’ बोला गया। आगे चलकर इस शब्द के बिगड़ते स्वरूप से इस शहर का नाम झांसी पड़ गया।
रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की प्रक्रिया जानें -

रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की प्रक्रिया
रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की प्रक्रिया राज्य सरकार करती है।
राज्य सरकार का अनुरोध रेलवे बोर्ड के पास जाता है।
रेलवे बोर्ड इसे अनापत्ति के लिए गृह मंत्रालय के पास भेजता है।
गृह मंत्रालय की मंजूरी के बाद रेलवे बोर्ड नाम को बदल देता है।
नाम बदलने के साथ स्टेशन का कोड भी बदला जाता है।
कोड को रेलवे के सारे दस्तावेजों में जगह दी जाती है।
कोड बदलने से बड़े पैमाने पर कागजों और दस्तावेजों में बदलाव करना पड़ता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीश्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.