UPSC Lateral Entry 2021: लेट्रल एंट्री का संसद में उठा मामला, जानिए किसने क्या कहा

  • UPSC Lateral Entry 2021:
  • यूपीएससी लेटरल एंट्री का मामला अब संसद में भी गूंज उठा है।
  • रोम गोपाल यादव का यह भी कहना है कि ऐसी नियुक्तियों में आरक्षण व्यवस्था का भी बिल्कुल ध्यान नहीं रखा गया।

By: Deovrat Singh

Published: 10 Feb 2021, 11:03 AM IST

UPSC Lateral Entry 2021: संघ लोक सेवा आयोग ने ज्वाइंट सेक्रेटरी और डायरेक्टर के पदों पर लेटरल एंट्री के आवेदन आमंत्रित किए हैं। आयोग द्वारा निकाली गई इस भर्ती का मामला अब संसद में भी गूंज उठा है। मंगलवार को संसंद में समाजवादी पार्टी से राज्य सभा सांसद राम गोपाल यादव ने संयुक्त सचिव के पद पर सीधी भर्ती किए जाने का मुद्दा सदन में उठाया। उनका कहना था कि ऐसा करने से सिविल सेवा प्रतिभागियों और आईएएस अधिकारियों में खासी नाराजगी है। रोम गोपाल यादव का यह भी कहना है कि ऐसी नियुक्तियों में आरक्षण व्यवस्था का भी बिल्कुल ध्यान नहीं रखा गया। आपको बता दें की इस भर्ती के जरिए सरकार में संयुक्त सचिव और डायरेक्टर के कुल 30 पदों को भरा जाएगा।

Read More: यूपीएससी ने ज्वाइंट सेक्रेटरी और डायरेक्टर के पदों पर निकाली भर्ती, जल्द करें अप्लाई

आमतौर पर इन पदों पर सिविल सेवा अधिकारियों को नियुक्त किया जाता है। लेकिन अब लेट्रल एंट्री के जरिए प्राइवेट सेक्टर के अनुभवी और विशेषज्ञ पेशेवरों को इस पद पर काम करने का मौका दिया जाता है। रिक्तियों की बात करें तो 3 पद ज्वॉइंट सेक्रेटरी और 27 पद डायरेक्टर लेवल के हैं। यह भर्ती तीन साल के कॉन्ट्रेक्ट पर निकाली है। प्रदर्शन के आधार पर इसे 5 साल तक बढ़ाया जा सकता है।

Read More: विभिन्न पदों के लिए निकली कुल 541 रिक्तियां, आवेदन प्रक्रिया जल्द होगी शुरू

गौरतलब है कि इन पदों पर नियुक्ति के लिए कोई लिखित परीक्षा नहीं आयोजित की जाएगी। उम्मीदवारों का चयन इंटरव्यू के आधार पर किया जाएगा। उक्त पदों पर भर्ती के लिए आवेदक के पास मास्टर डिग्री होनी चाहिए। शैक्षणिक योग्यता और पात्रता संबंधी अधिक जानकारी के लिए कैंडिडेट्स को ऑफिशियल नोटिफिकेशन जरूर पढ़ें।

Read More: असिस्टेंट प्रोफेसर सहित अन्य के पदों पर निकली भर्तियां, जानिए पूरी डिटेल्स

Show More
Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned