RAILWAY--सौर ऊर्जा से रेलवे बचा रहा 76 लाख यूनिट बिजली

- 4 करोड़ राजस्व बचत भी

- उतर पश्चिम रेलवे ने लगाए 6900 किलोवॉट क्षमता के सोलर पैनल

- प्रदेश में 140 से अधिक व जोधपुर मंडल में 46 स्थानों पर लगाए है सोलर पैनल

By: Amit Dave

Published: 13 Sep 2020, 09:38 PM IST

जोधपुर।

रेलवे देशभर में ट्रेनों के संचालन, माल परिवहन के अलावा ऊर्जा संरक्षण की दिशा में भी कार्य कर रहा है। उत्तर पश्चिम रेलवे सौर ऊर्जा से बिजली उत्पन्न कर प्रदूषण रहित पर्यावरण की मुहिम को बढ़ाने के साथ करोड़ों रुपए के राजस्व बचत भी कर रहा है। उत्तर पश्चिम रेलवे के सभी मण्डल जयपुर, अजमेर, जोधपुर व बीकानेर मण्ड़ल मुख्यालयों के अलावा विभिन्न स्टेशनों व रेलवे के अन्य भवनों पर सोलर पैनल लगाकर बिजली पैदा की जा रही है।

---

यहां इतनी बिजली पैदा की जा रही

हरित ऊर्जा की पहल के अन्तर्गत जोधपुर स्टेशन पर कुल 770 किलोवॉट के उच्च सोलर पैनल स्थापित कर बिजली प्राप्त की जा रही है। जोधपुर वर्कशॉप पर 440 किलोवॉट, मण्ड़ल रेल प्रबंधक कार्यालय जोधपुर पर 230 किलोवॉट, भगत की कोठी पर 250 किलोवॉट क्षमता के सोलर पैनल स्थापित कर विद्युत उत्पादन किया जा रहा है। इनके अलावा जयपुर स्टेशन पर 500 किलोवॉट क्षमता के 2, अजमेर स्टेशन पर 500 किलोवॉट क्षमता का 1 उच्च सोलर पैनल स्थापित कर बिजली पैदा की जा रही है।

---

उत्तर पश्चिम रेलवे सौर ऊर्जा फेक्ट फाइल

- 6973 किलोवॉट कुल सोलर क्षमता पैनल स्थापित

- 76 लाख यूनिट से अधिक बिजली व 3.76 करोड़ राजस्व बचत प्रतिवर्ष

- 125 स्टेशनों पर 5203 किलोवॉट सोलर क्षमता पैनल स्थापित

- 20 सर्विस बिल्डिंग पर 1470 किलोवॉट सोलर क्षमता पैनल स्थापित

- 490 अन्य स्थानों पर 300 किलोवॉट सोलर क्षमता पैनल स्थापित

- 8.6 मेगावॉट क्षमता के सोलर सिस्टम लगाने का कार्य प्रगति पर

--

4 मण्ड़लों में 143 स्थानों पर लगे है पैनल

मण्डल-- पैनल की संख्या

बीकानेर- 52

जोधपुर- 46

अजमेर- 24

जयपुर-21

---

रेलवे ऊर्जा संरक्षण की दिशा में प्रयासरत है। विभिन्न मण्ड़लों पर सौर ऊर्जा से बिजली पैदा की जा रही है। इससे बिजली व राजस्व बचत हो रहा है।

गोपाल शर्मा, प्रवक्ता

जोधपुर मण्ड़ल

Amit Dave Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned