scriptAnother FIR registered against Aseem Rai's murderer Bappa Ganguly | असीम राय के हत्यारे बप्पा गांगुली पर एक और FIR दर्ज, पट्टे वाली जमीन लोगों को बेचकर वसूले लाखों रूपए | Patrika News

असीम राय के हत्यारे बप्पा गांगुली पर एक और FIR दर्ज, पट्टे वाली जमीन लोगों को बेचकर वसूले लाखों रूपए

locationकांकेरPublished: Feb 04, 2024 03:44:41 pm

Submitted by:

Kanakdurga jha

FIR Report in Aseem Rai Murderer : असीम राय हत्याकांड के मास्टर माइंड व पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष पखांजूर बप्पा गांगुली के खिलाफ पखांजूर पुलिस ने धोखाधड़ी का एक नया मामला दर्ज किया है।

bappa_ganguly.jpg
Aseem Rai Murderer Bappa Ganguly : असीम राय हत्याकांड के मास्टर माइंड व पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष पखांजूर बप्पा गांगुली के खिलाफ पखांजूर पुलिस ने धोखाधड़ी का एक नया मामला दर्ज किया है। पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष पर आरोप है कि जब वे नगर पंचायत अध्यक्ष थे, उस दौरान उनके द्वारा सरकारी योजना के तहत खाली पड़ी सरकारी जमीन का पट्टा देने के लिए पीड़ित से दो लाख में सौदा किया था, जिसमें एक लाख रूपए लिए भी थे। इस मामले में पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ एक और मामला दर्ज कर लिया है।
यह भी पढ़ें

Mahtari Vandan Yojana : इन महिलाओं को नहीं मिलेगा महतारी वंदन योजना का लाभ, सरकार ने दी बड़ी जानकारी, कल से करें आवेदन



शिकायतकर्ता गोपाल बिस्वास ने पखांजूर थाने में शिकायत दर्ज कराई है कि जिस दौरान प्रदेश सरकार द्वारा खाली पड़ी शासकीय भूमि के आवंटन की योजना चल रही थी,उस दौरान नगर पंचायत पखांजूर के ठीक सामने खाली पड़ी जमीन का पट्टा देने के नाम पर उनसे दो लाख रूपए की मांग की और पट्टा बनवा देने का आश्वासन दिया।
नगर पंचायत अध्यक्ष के बातों में आकर उन्होनें 15 जून 2021 को एक लाख रूपए उनके निज आवास सत्यानंद पल्ली में जाकर दे दिया था, पर अध्यक्ष द्वारा पट्टा नहीं बनवाया गया । इस दौरान वे कई बार पैसे वापस करने को कहा पर वे आश्वासन देते रहे पर एडवांस में ली गई एक लाख रूपए की राशि को वापस नहीं किया। पीड़ित गोपाल विश्वास ने बताया कि वे नगर पंचायत पखांजूर में उचित मूल्य की दुकान चलाते हैं।
यह भी पढ़ें

IED Blast In Narayanpur : नारायणपुर में नक्सली ने मचाया उत्पात, आमदई में IED ब्लास्ट से एक जवान घायल



जिस कारण अध्यक्ष के यहां आना-जाना था और उनसे संबध थे, जिस कारण अध्यक्ष ने उन्हें यह प्रस्ताव दिया। साथ ही सौदा अनुसार उन्हें दो लाख देना था और उस जमीन के लिए शासन को जाने वाला शुल्क तथा तहसील में होने वाले अतरिक्त खर्च भी मुझे ही उठाना था, पर अध्यक्ष ने तो एक लाख ले लिए पर उनका काम नहीं किया। घटना के तीन साल बाद शिकायत करने के संबध में उन्होनें बताया कि वे नगर पंचायत पखांजूर के वार्ड क्रमांक 15 में उचित मूल्य की दुकान चलाते हैं, इस दौरान उन्हें डर था।

ट्रेंडिंग वीडियो