script शिक्षक की काली करतूत! नाबालिग छात्राओं को अकेले पाकर करता था ऐसी घिनौनी हरकत, वीडियो हुआ वायरल | Kanker teacher used to molest schoolgirl | Patrika News

शिक्षक की काली करतूत! नाबालिग छात्राओं को अकेले पाकर करता था ऐसी घिनौनी हरकत, वीडियो हुआ वायरल

locationकांकेरPublished: Jan 31, 2024 02:38:28 pm

Submitted by:

Khyati Parihar

Kanker Crime News: इन दिनों चारामा क्षेत्र में नाबालिग छात्राओ के साथ छेड़छाड़ की घटना सुनने में आ रही है। पिछले दिनों भी एक स्कूली छात्रा का वीडियो वायरल हुआ था जो कि मीडिया द्वारा घटना को संज्ञान में लेकर समाचार प्रकाशित किया था, जिस पर संबंधित कुछ अधिकारियों ने कार्रवाई की थी।

schoolgirl_molested_in_kanker.jpg
CG Crime News: इन दिनों चारामा क्षेत्र में नाबालिग छात्राओ के साथ छेड़छाड़ की घटना सुनने में आ रही है। पिछले दिनों भी एक स्कूली छात्रा का वीडियो वायरल हुआ था जो कि मीडिया द्वारा घटना को संज्ञान में लेकर समाचार प्रकाशित किया था, जिस पर संबंधित कुछ अधिकारियों ने कार्रवाई की थी। 15 दिन बाद क्षेत्र के संस्कारित ग्राम जो चारामा से कुछ ही दूर पर स्थित है तथा दर्शनीय गांव के नाम से एक अलग पहचान है।
इस गांव में स्थित हायर सेकेंडरी स्कूल की एक छात्रा को इस स्कूल के एक शिक्षक जो की विज्ञान सहायक है अपने प्रयोगशाला में परीक्षा में अच्छे नंबर दिलाने की बात कहते हुए छेड़छाड़ कर अश्लील हरकत की, जिसके कारण छात्रा स्कूल जाने से डरने लगी वह घर वालों के द्वारा बार-बार पूछने पर उसने पूरी बात अपने परिजनों को बताया। जिसकी शिकायत स्कूल के प्राचार्य से की गई तब ग्राम के कुछ प्रमुख लोगों की समझाइस पर मामला को छिपाने का प्रयास किया गया।
यह भी पढ़ें

सेना में भर्ती होने का सुनहरा मौका…8 फरवरी से इस तारीख तक कर सकेंगे ऑनलाइन आवेदन, देखें Details

जब उक्त घटना की जानकारी मीडिया तक पहुंची और उसकी प्रतिक्रिया जानने विधालय के प्राचार्य से संपर्क करने का प्रयास किया गया तब भी टालमटोल किया जाता रहा। इस विषय पर जिम्मेदार अधिकारियों से पूछे जाने के पश्चात ही प्रशासन सक्रिय हुआ तब उक्त शिक्षक को निलंबित करने की बात सामने आ रही है। जबकि इस घटना की सूचना पुलिस को भी नहीं दी गई, जिसके द्वारा गुड टच एवं बेड टच तथा चाइल्ड लाइन हेल्पलाइन की जानकारी के लिए काउंसलिंग की जाती है। छात्रा के परिजनों के मुताबिक घटना को दबाने के उद्देश्य से उनके घर पर विधालय स्टाफ द्वारा दबाव बनाने की बात भी सामने आ रही है । छात्रा भयभीत है सामने उसका भविष्य है परीक्षा भी सर पर है ऐसी स्थिति में उसको हौसले की जरूरत है । प्रश्न यह उठता है कि आखिर छात्राएं किस तरह से अपने आप को सुरक्षित महसूस करें, अगर ऐसी हरकत करने वालों को संरक्षण दिया जाता है तो उनके हौसले बढ़ने लगेंगे तथा इस प्रकार की घटनाओं पर अंकुश लगा पाना मुश्किल हो जाएगा।
इस घटना को छुपाने का प्रयास करने वाले भी उतने ही दोषी हैं, जितना की घटना को अंजाम देने वाला शिक्षक। अब देखना यह है कि प्रशासन आगे और क्या कार्रवाई कर पाती है। बहरहाल यह मामला जनचर्चा का विषय बना हुआ है।

ट्रेंडिंग वीडियो