रात के अंधेरे में भी खुद को नहीं बचा सकेंगे अपराधी, बिकरू कांड से सबक लेकर पुलिस ने की नई व्यवस्था

पुलिस लाइन में एक ऐसा गैजेट आया है, जिससे अपराधी से आसानी से निपटा जा सकेगा। जल्द ही इसका अभ्यास कराया जाएगा।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 24 Feb 2021, 04:06 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. बहुचर्चित बिकरू कांड (Bikru Kand) जैसी घटना दोबारा दोहराई न जा सके। बिकरू घटना से सबक लेते हुए शासन (UP Goevernment) ने अपराधियों को पकड़ने के लिए दुरुस्त व्यवस्था कर दी है। इससे अब अपराधी रात के अंधेरे में भी नही छिप सकेंगे। इसके लिए पुलिस ने तरीका ढूंढ निकाला है। कानपुर पुलिस लाइन में एक ऐसा गैजेट (Gadget) आया है, जिससे अपराधी से आसानी से निपटा जा सकेगा। जल्द ही इसका अभ्यास कराया जाएगा। छोटी बड़ी किसी भी प्रकार की घटना से निपटने के लिए शासन की तरफ से जिलों को एलईडी माउंटेन हाईटेक ड्रोन कैमरे (LED Mountain Hiteck Drone Cameras) उपलब्ध कराए हैं। इस नई व्यवस्था के तहत रात के समय कांबिंग (Police Combing) में पुलिस को सर्च लाइट (search Light) व ड्रैगन लाइट (Dragon Light) लेकर नहीं चलना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें: कानपुर प्रदूषण नियंत्रण के लिए आईआईटी ने किया अध्ययन, मास्टर प्लान किया तैयार

बिकरू कांड से लिया सबक

शातिर बदमाश अंधेरे का फायदा उठाकर छिप नहीं सकेंगे और आधा किलोमीटर दूर तक उनकी सटीक लोकेशन पता लगा लेगी। दरअसल बिकरू गांव में हुए कांड में दुर्दांत अपराधी विकास दुबे व उसके गैंग (Vikas Dubey Gang) ने अंधेरे का फायदा उठाकर ही पुलिस पर हमला बोल दिया था, जिसमें सीओ समेत आठ पुलिस कर्मियों की मौत हुई थी। जिसके बाद उसी अंधेरे का फायदा उठाकर आरोपी फरार हो गए थे। इससे पुलिस छतों पर मौजूद इन अपराधियों की लोकेशन व मूवमेंट को नहीं भांप सकी थी। लेकिन अब इस व्यवस्था से ऐसा नहीं हो सकेगा।

जानिए इसकी खूबियां

इस एलईडी माउंटेन हाईटेक ड्रोन कैमरे में सबसे बड़ी खूबी यह है कि 100 मीटर ऊपर से ही इस ड्रोन व उसमें लगे कैमरों की मदद से मकानों की छतों व इमारतों में छिपे अपराधियों पर नजर रखी जा सकेगी। जिससे अपराधी खुद को पुलिस से नहीं छिपा सकेंगे। एसपी पश्चिम डॉ. अनिल कुमार (SP West Anil Kumar Kanpur) ने बताया कि मंगलवार रात हाईटेक ड्रोन पुलिस लाइन में पहुंच गया है। उसके मैनुअल व ऑटोमैटिक संचालन की तकनीकी को देखा जाएगा। विशेषज्ञों से जानकारी लेने के बाद जल्द ही ड्रोन का अभ्यास (Trial) कराया जाएगा।

Show More
Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned