सीएसजेएमयू में पढ़ाई जाएगी अच्छी नौकरी दिलाने वाली यह भाषा

आईआईटी में जर्मन, जापानी और चाइनीज भाषा के साथ यह भाषा भी सीखते हैं छात्र
मल्टीनेशनल कंपनियों और विदेश में अच्छे पैकेज दिलाने में यह भाषा होती मददगार

कानपुर। बड़ी मल्टीनेशनल कंपनियों में बेहतर पैकेज वाला जॉब दिलाने में भाषा का भी अहम रोल होता है। कई विदेशी भाषाओं में फ्रेंच भाषा ऐसी है, जिसका सबसे ज्यादा महत्व बताया जाता है। इस भाषा का जानकार बड़ी-बड़ी कंपनियों में अपना प्रभाव छोडऩे में सफल रहता है, जिस कारण उसके लिए कई अवसर खुल जाते हैं। इसलिए फ्रेंच भाषा का महत्व देखते अब छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय (सीएसजेएमयू) में नए सत्र से फ्रेंच की पढ़ाई होगी।

छह माह का होगा कोर्स
छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय में छह माह का सर्टिफिकेट कोर्स वीवॉक के तहत शुरू होगा। फिलहाल फ्रेंच की पढ़ाई कांवेंट स्कूलों और आईआईटी में हो रही है। विवि में विदेशी भाषा की पढ़ाई वाला यह पहला सर्टिफिकेट कोर्स होगा। हालांकि विवि के एमबीए इन टूरिज्म में एक प्रश्नपत्र के रूप में फ्रेंच भाषा पढ़ाई जा रही है, अब इस विषय को अन्य छात्रों के लिए भी शुरू किया जाएगा।

सिलेबल में किया जा रहा बदलाव
छात्र-छात्राओं की उज्जवल भविष्य को देखते हुए लगातार नए पाठ्यक्रम शुरू करने के साथ बोर्ड ऑफ स्टडीज के जरिए सिलेबस में बदलाव किया जा रहा है। विशेषज्ञों के मुताबिक मल्टीनेशनल कंपनियों और विदेश में अच्छे पैकेज पर जॉब के लिए फ्रेंच भाषा का जानकार होना जरूरी है। विवि में बीटेक और एमबीए की भी पढ़ाई होती है, इन छात्रों के लिए फ्रेंच भाषा की जानकारी पैकेज को बढ़ा सकती है।

आईआईटी में होती है पढ़ाई
विदेशी भाषा में अभी तक सिर्फ आईआईटी में सर्टिफिकेट कोर्स चलता है। यहां फ्रेंच के अलावा जर्मन, जापानी और चाइनीज भाषा का भी सर्टिफिकेट कोर्स चलता है। वर्तमान में करीब सात एक्सपर्ट के अंदर में 700 छात्र-छात्राएं विदेशी भाषा सीख रहे हैं। फ्रेंच भाषा जानने वाले आईआईटी के छात्रों को विदेश में अच्छा पैकेज मिलता है। इसी वजह से सीएसजेएमयू में इस भाषा की पढ़ाई शुरू की जाएगी।

आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned