scriptIncendiary weapons will be made with Israeli technology 17 thousand people get employment in Kanpur | कानपुर में इजरायली तकनीक से बनेंगे आग उगलने वाले हथियार, 17 हजार लोगों को जल्द मिलेगा रोजगार | Patrika News

कानपुर में इजरायली तकनीक से बनेंगे आग उगलने वाले हथियार, 17 हजार लोगों को जल्द मिलेगा रोजगार

locationकानपुरPublished: Feb 01, 2024 10:27:03 am

Submitted by:

Vishnu Bajpai

UP News: यूपी के कानपुर में अडानी डिफेंस ‌सिस्टम्स की आर्म्स फैक्ट्री का कुछ ही दिनों में उद्घाटन होने वाला है। इसमें इजरायली तकनीक से आग उगलने वाले हथियारों का उत्पादन भी शुरू हो चुका है। अब यहां लोगों को रोजगार बांटा जाएगा।

ordnance_factory_in_kanpur.jpg
Adani Arms Factory in Kanpur: उत्तर प्रदेश के रक्षा क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयासों में कानपुर में अडानी डिफेंस सिस्टम्स की आर्म्स फैक्ट्री लगभग तैयार हो गई है। डिफेंस कॉरिडोर की कानपुर नोड स्थित 250 एकड़ में बनी इस फैक्ट्री का उद‌्घाटन कुछ हफ्तों में हो जाएगा। 'दि इकोनॉमिक्स टाइम्स' की रिपोर्ट्स के अनुसार, यहां इस्राइल से 100% तकनीक के ट्रांसफर के चलते उत्पादन भी शुरू हो गया है। इस फैक्ट्री में कार्बाइन, पिस्टल, स्नाइपर राइफल और बुलेट आदि बनाई जाएंगी। कानपुर स्थित साढ़ में अडानी डिफेंस का आर्म्स एंड एम्यूनिशन कॉम्प्लेक्स बन रहा है। जहां गोला-बारूद और छोटे हथियार बनाए जाएंगे। इसमें तीनों सेनाओं और पैरामिलिट्री फोर्स के लिए जरूरी सारे हथियार बनाए जाएंगे।

आर्म्स फैक्ट्री में 15 सौ करोड़ का काम पूरा


कानपुर के साढ़ में डिफेंस कॉरिडोर की जमीन पर अडानी डिफेंस का आर्म्स एंड एम्यूनिशन कॉम्प्लेक्स की गिनती एशिया की सबसे बड़ी गोला-बारूद निर्माण यूनिट में की जा रही है। यहां अब तक लगभग 1500 करोड़ की लागत का काम पूरा हो चुका है। इस फैक्ट्री में शॉर्ट रेंज मिसाइलें भी बनेंगी। बताया जा रहा है कि ये सारे हथियार हैंड हेल्ड होंगे। 'दि इकोनॉमिक्स टाइम्स' की रिपोर्ट को मानें तो 1,500 करोड़ के शुरुआती निवेश के साथ स्थापित होने वाला यह प्लांट सबसे पहले 7.62 और 5.56 मिमी की गोलियों का निर्माण करेगा जो दुनिया भर में असॉल्ट राइफलों और कार्बाइन में उपयोग की जाती हैं।
इस्राइल से तकनीक के 100% हस्तांतरण के बाद यहां छोटे हथियार बनाने का काम भी शुरू हो चुका है। इनकी टेस्टिंग की जा रही है। अडानी डिफेंस एंड एयरोस्पेस के चाइल्ड वेक्यूटिव ऑफिसर आशीष राजवंशी ने इकोनॉमिक्स टाइम्स को बताया कि आने वाले महीनों में संयंत्र का विस्तार होने की संभावना है, कुल 500 एकड़ जमीन अलग रखी जाएगी, और 155 मिमी आर्टिल सहित बड़े कैलिबर गोला बारूद का उत्पादन किया जाएगा।

डिफेंस कॉरिडोर में 17 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार


'दि इकोनॉमिक्स टाइम्स' की रिपोर्ट्स में बताया गया है कि बीते दिनों हुई ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में कानपुर नोड के लिए 21 एमओयू साइन किए गए थे। इनमें कुल 9729.58 करोड़ रुपये का दावा किया गया था। वहीं ‌डिफेंस कॉरिडोर में बन रही इन फैक्ट्रियों में करीब 17 हजार लोगों को रोजगार दिया जाएगा। यहां बन रही कंपनियों में अडानी डिफेंस सिस्टम्स एंड टेक्नॉलजीज, जेनसर एयरोस्पेस, अनंत टेक्नॉलजीज, एंड्योर एयरोसिस्टम्स प्रमुख रूप से शामिल हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो