scriptKanpur news: After 13 years the accused got life imprisonment | Kanpur news: 13 साल के बाद मिला न्याय, आरोपियों को मिली आजीवन कारावास की सजा | Patrika News

Kanpur news: 13 साल के बाद मिला न्याय, आरोपियों को मिली आजीवन कारावास की सजा

locationकानपुरPublished: Nov 24, 2023 11:08:11 pm

Submitted by:

Avanish Kumar

Kanpur news: कानपुर देहात में 13 वर्ष के बाद आरोपियों को आजीवन कारावास की कोर्ट में सजा सुनाई है। इस साथ ही अर्थदंड लगाया है।

Kanpur news: 13 साल के बाद मिला न्याय, आरोपियों को मिली आजीवन कारावास की सजा
Kanpur news: कानपुर देहात में 13 वर्ष पूर्व रसूलाबाद के गंभीरा गांव में दो सगे भाइयों व उनके दो सालों ने मामूली विवाद में दो लोगों पर लाठी डंडे से हमला कर दिया था। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। उपचार के दौरान रामबहादुर की मौत हो गई थी। मामले में पीड़ित पक्ष की शिकायत पर मुकदमा किया गया था। जिसकी सुनवाई जिला अपर जिला एवं सत्र न्यायालय प्रथम में चल रही थी। मुकदमे की नियत तिथि पर मामले की सुनवाई के दौरान न्यायालय ने साले बहनोई समेत चार लोगों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इसके अलावा आर्थिक दंड भी लगाया है।
पूरे मामले को लेकर सहायक शासकीय अधिवक्ता ने बताया कि रसूलाबाद क्षेत्र के गंभीरा गांव निवासी पंकज सिंह ने पुलिस में 26 अप्रैल 2010 को मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें बताया था कि 25 अप्रैल को शाम ट्रैक्टर से गेहूं काटने को लेकर गांव के रहने वाले मुकेश उर्फ पिंकू व उसके चाचा राम बहादुर के बीच कहासुनी हुई थी। इसी बात को लेकर सुबह उसके चाचा पर मुकेश उर्फ पिंकू, उसके भाई मुनेन्द्र सिंह उर्फ नीरू व कन्नौज के इंदरगढ़ बेलामऊ सरैया गांव निवासी मुकेश के साले पवन सिंह व गगन सिंह ने लाठी डंडे से हमला कर दिया। वहीं बीच बचाव में आए पिता नरेंद्र सिंह पर भी हमला कर दिया। जिससे दोनों लोग गंभीर रूप से घायल हो गए और उपचार के दौरान चाचा रामबहादुर की मौत हो गई थी। जिसके बाद पुलिस ने मामले में हत्या की धारा की बढ़ा कर सभी आरोपितों के खिलाफ आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल किए था।
सहायक शासकीय अधिवक्ता ने बताया कि पूरे मामले की सुनवाई अपर जिला जज प्रथम की कोर्ट में चल रही थी। मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मुकेश उर्फ पिकू,मुनेन्द्र सिंह उर्फ नीरू,पवन सिंह व गगन सिंह को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इस साथ ही सभी पर 10-10 हजार का अर्थदंड लगाया है।

ट्रेंडिंग वीडियो