पत्रिका की खबर का असर- अब दर्शन के लिए सड़क पर नहीं करना होगा इंतजार

पत्रिका की खबर का असर
मदनमोहनजी मंदिर के गेट खुलने से मिलेगी राहत

अब दर्शन के लिए सड़क पर नहीं करना होगा इंतजार

करौली. प्रसिद्ध आराध्य देव मदनमोहनजी के दर्शन के लिए अब श्रद्धालुओं को सड़क पर इंतजार नहीं करना पड़ेगा। प्रशासन के निर्देश पर मंदिर ट्रस्ट प्रबंधन ने बुधवार शाम से मंदिर में प्रवेश की व्यवस्था में बदलाव किया है। हालांकि अभी कोरोना गाइड लाइन का कारण बताते हुए मंदिर प्रबंधन ने कोरोना से पहले की व्यवस्था लागू नहीं की है

By: Surendra

Published: 13 Oct 2021, 08:44 PM IST

पत्रिका की खबर का असर
मदनमोहनजी मंदिर के गेट खुलने से मिलेगी राहत

अब दर्शन के लिए सड़क पर नहीं करना होगा इंतजार

करौली. प्रसिद्ध आराध्य देव मदनमोहनजी के दर्शन के लिए अब श्रद्धालुओं को सड़क पर इंतजार नहीं करना पड़ेगा। प्रशासन के निर्देश पर मंदिर ट्रस्ट प्रबंधन ने बुधवार शाम से मंदिर में प्रवेश की व्यवस्था में बदलाव किया है। हालांकि अभी कोरोना गाइड लाइन का कारण बताते हुए मंदिर प्रबंधन ने कोरोना से पहले की व्यवस्था लागू नहीं की है लेकिन भक्तों को अब सड़क पर खड़े होकर मंदिर में प्रवेश के इंतजार की समस्या से निजात मिल गई है। अभी तक मंदिर के गेट बंद रहने से दर्शन करने अंदर जाने को मंदिर के मुख्य गेट के आगे संकरी गली में श्रद्धालु प्रवेश पाने का इंतजार करते रहते थे।
कार्मिक सीमित लोगों को प्रवेश देते थे। इससे मंदिर गेट के सामने संकरी गली में भीड़ जमा होने से धक्का-मुक्की होती थी। अव्यवस्था की स्थिति से श्रद्धालु परेशान होते थे और लोगों की जेब तक कट जाती थी। श्रद्धालुओं को न बैठने की जगह उपलब्ध थी न पीने के लिए पानी मिल पाता था। बुजुर्ग और महिलाओं को विशेष तौर पर अधिक दिक्कत रहती थी। राजस्थान पत्रिका ने 12 अक्टूबर को प्रमुखता से समाचार प्रकाशित करके इस समस्या को उठाया था। इसके बाद सामाजिक कार्यकर्ता, नगर परिक्रमा समिति, करौली मंच के सदस्यों ने प्रशासन को व्यवस्था में बदलाव के लिए ज्ञापन सौंपे थे।

प्रशासन और मंदिर प्रबंधन की हुई चर्चा

पत्रिका की खबर के बाद इस मामले में जिला कलक्टर सिद्धार्थ सिहाग ने उपखण्ड अधिकारी धीरेन्द्र सिंह को समस्या समाधान के लिए कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उपखण्ड अधिकारी सुबह मंदिर पहुंचे और मंदिर प्रबंधक मलखान पाल सिंह तथा सहायक प्रबंधक भूपेन्द्र पाल से समस्या समाधान को लेकर चर्चा की। इधर मंदिर के मुख्य ट्रस्टी कृष्ण चंद पाल ने भी अव्यवस्था के माहौल के खत्म करने के बारे में निर्देशित किया। मंदिर प्रबंधन और प्रशासन की चर्चा के बाद बुधवार शाम से मंदिर के मुख्य गेटों को खोल दिया गया है। अब श्रद्धालु प्रतीक्षालय और प्याऊ परिसर तक बेरोकटोक प्रवेश पा सकेंगे। दर्शन खुलने के बाद वहां से कतारबद्ध करके उनको मंदिर में प्रवेश दिए जाने की व्यवस्था की गई है। इस नई व्यवस्था से अब सड़क पर होने वाली धक्का-मुक्की और अव्यवस्था का माहौल खत्म होगा। श्रद्धालु अंदर पहुंचकर सुस्ताने को बैठ सकेंगे और उनको पानी को पानी भी मिलेगा।

मंगला दर्शन रहेंगे बंद

मंदिर प्रबंधन ने सरकार की नई गाइड लाइन आने के बाद मंगलवार रात से शयन आरती के दर्शन भी आमजन के लिए खोल दिए हैं। लेकिन मंगला आरती के दर्शन सरकार की गाइड लाइन की पालना में बंद रहेगा।

Surendra Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned