छह दिसंबर को विजय दिवस, काला दिवस या शौर्य दिवस मनाया तो खैर नहीं

जिलाधिकारी ने कहा कि विकास का रास्ता शांति से होकर जाता है। जनपद कासगंज गंगा जमुनी संस्कृति का केन्द्र रहा है। यहां के अमन चैन पर आंच न आने दें।

कासगंज। यूपी के कासगंज जनपद में 06 दिसम्बर को लेकर कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये सभी समुदायों के धर्माचार्यों, पुजारियों, मस्जिदों के इमामों, व्यापारियों, राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों, जनप्रतिनिधियों, प्रभावशाली व्यक्तियों व गणमान्य नागरिकों के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक का आयोजन किया गया। इस दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि विकास का रास्ता शांति से होकर जाता है। जनपद कासगंज गंगा जमुनी संस्कृति का केन्द्र रहा है। यहां के अमन चैन पर आंच न आने दें।

यह भी पढ़ें- छात्रा के जहर पीने के मामले में अध्यापक को पुलिस ने पकड़ा

जिलाधिकारी ने कहा कि हम शांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये दृढ़ संकल्पित हैं। खुराफात करने की कोई सोच भी नहीं सकेगा। माहौल बिगाड़ने वालों को किसी भी दषा में बख्शा नहीं जायेगा, उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी। पूर्ण सतर्कता बरती जा रही है।

यह भी पढ़ें- महिलाएं झिझक के चलते झेल रहीं तमाम बीमारियां, अपने डॉक्टर से खुलकर बात करें

06 दिसम्बर को किसी भी प्रकार का विजय दिवस , काला दिवस, शौर्य दिवस मनाने अथवा जुलूस, बाइक या तिरंगा रैली निकालने की किसी को भी अनुमति नहीं है। अनर्गल बयानबाजी या टीका टिप्पणी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। आसामाजिक एवं अराजक तत्वों पर कड़ी नजर रखी जाये। हमारे दरवाजें विकास कार्यों को कराने के लिये हमेशा खुले हुये हैं।

यह भी पढ़ें- खराब खड़े ट्रक में जा घुसी कार, इटावा के दो युवकों की मौत


पुलिस अधीक्षक सुशील घुले ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करें। आपसी भाईचारा और सद्भाव को और बेहतर बनायें। सूचना तंत्र को काफी मजबूत बना दिया गया है। सोशल मीडिया पर हर समय नजर रखने के लिये अलग सेल गठित है। गलत या भड़काऊ पोस्ट डालने पर तुरंत एफआईआर दर्ज कराकर मुकदमा दर्ज कराया जायेगा। जिले में मस्जिदों, मन्दिरों, सार्वजनिक एवं संवेदनशील स्थानों, चौराहों पर सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जाएगी। मिश्रित आबादी वाले क्षेत्रों पर विशेष नजर रखी जा रही है। सभी आसामाजिक तत्वों को चिन्हित कर लिया गया है। जनपद में धारा 144 लागू है। जिले में सेक्टर स्कीम के तहत अधिकारियों को जिम्मेदारियां सौंप दी गई हैं।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned