script इस जिले में धान खरीदी में बड़ी गड़बड़ी: 800 मेट्रिक टन अमानक धान रिजेक्ट | 800 metric tons of non-standard paddy rejected | Patrika News

इस जिले में धान खरीदी में बड़ी गड़बड़ी: 800 मेट्रिक टन अमानक धान रिजेक्ट

locationकटनीPublished: Jan 16, 2024 08:34:45 pm

Submitted by:

balmeek pandey

भोपाल से पहुंचे अधिकारियों ने की जांच तो गुणवत्ताहीन धान खरीदी का हुआ भंडाफोड़, 36 ट्रक धान रिजेक्ट, कचरा व मिली टूटन

इस जिले में धान खरीदी में बड़ी गड़बड़ी: 800 मेट्रिक टन अमानक धान रिजेक्ट
इस जिले में धान खरीदी में बड़ी गड़बड़ी: 800 मेट्रिक टन अमानक धान रिजेक्ट

कटनी. खाद्य विभाग, नागरिक आपूर्ति निगम, सहकारिता व जिला प्रशासन द्वारा जिले में गुणवत्तायुक्त धान खरीदी का अबतक दावा किया जा रहा था, लेकिन भोपाल से पहुंची टीम ने सोमवार को वेयरहाउसों में भंडारण के लिए पहुंची धान की गुणवत्ता की जांच की तो कलई खुलकर सामने आ गई है। एक दिन में वेयर हाउसों में पहुंची लगभग 800 मेट्रिक टन धान अमानक पाई गई है, जिसे रिजेक्ट कर दिया गया है। धान खरीदी में चल रहे बड़े घोटाले का भंडाफोड़ हुआ है। अब मामले को दबाने के लिए आनन फानन में धान को ऑनलाइन रिजेक्ट कराते हुए समितियों को वापस अपग्रेड करने के लिए थमाई जा रही है। वहीं एकदिन में व्यापक पैमाने पर रिजेक्ट हुई धान से जिला के आला अधिकारियों की निगरानी पर सवाल खड़े हो गए हैं।
जानकारी के अनुसार सोमवार को आरबी एसोसिऐट भोपाल से क्वालिटी कंट्रोलर जिले में चल रही धान खरीदी की गुणवत्ता को जांचने के लिए पहुंचे। जांच के दौरान बड़ी गड़बड़ी पाई है। श्री वेयर हाउस इंद्रानगर में दो ट्रक, गोविंद वेयर हाउस इंद्रानगर 2 ट्रक, मां और माहेश्वर वेयर हाउस पड़़आ में 7 ट्रक, विकास वेयर हाउस लमतरा में 3 ट्रक, पूजा वेयर हाउस देवडोंगरा में 4 ट्रक, श्रीनाथ वेयर हाउस कैलवारा में 5 ट्रक, रामाकृष्णा वेयर हाउस झुकेही में 15 ट्रक लगभग 800 मेट्रिक टन धान अमानक पाई है, जिसे रिजेक्ट कर दिया गया है। अन्य वेयर हाउसों की जांच जारी है।

यह पाई गई खामी
कंपनी के अधिकारी आकाश गोस्वामी के नेतृत्व में टीम ने जांच की तो वेयर हाउसों में धान रीठी, बहोरीबंद, विजयराघवगढ़, ढीमरखेड़ा, बड़वारा आदि की समितियों से धान उठाकर वेयर हाउसों में ट्रांसपोर्टर राहूल सलूजा व अतुल गुप्ता द्वारा भंडारण के लिए भेजे गए ट्रकों की जांच कराई। जांच के दौरान धान में टूटन अधिक है व चावल अधिक मात्रा में पाया गया है। गुणवत्तायुक्त धान नहीं है। 40 किलो की बोरी में कई जगह में तो 20 किलो से अधिक कचरा मिलना बताया गया है। ऑनलाइन रिजेक्शन कराया गया है, पंचनामा भी कराया गया है। समिति को धान वापस लौटाई जा रही है। इस बड़ी कार्रवाई से पूरे जिले में हडक़ंप मच गया है। हर गोदाम पर नागरिक आपूर्ति निगम के माध्यम से कंपनी द्वारा सर्वेयरों की नियुक्ति की गई थी, लेकिन सांठगांठ के चलते बड़ा खेल चल रहा था।

वर्जन
भोपाल से आरबी एसोसिऐट कंपनी के सर्वेयर धान की जांच करने के लिए पहुंचे हैं। आठ गोदामों में 36 ट्रकों में लोड लगभग 800 मेट्रिक टन धान रिजेक्ट की है। समितियों द्वारा गुणवत्ताहीन धान खरीदी गई थी। आखिरी समय में समितियों द्वारा खरीदी में गड़बड़ी की जा रही थी। धान को रिजेक्ट करते हुए उसे समितियों को लौटाया जा रहा है। मामले की जांच कराई जाएगी।
केएल शर्मा, जिला प्रबंधक नान।

ट्रेंडिंग वीडियो