lockdown, आसमान छूने लगी मंहगाई, कालाबाजारी सक्रिय

बीस का आलू बिका चालीस रुपये किलो, चालीस की भिंडी हो गई अस्सी की.

कटनी. कोरोना से आमजन को बचाने के लिए जैसे ही लॉकडाउन की सीमा बढ़ाकर 14 अप्रैल की गई। खान पान व जरुरत की दूसरी सामग्री की कीमतें आसमान छूने लगी। बुधवार को सब्जी मंडी में बीस रुपये प्रति किलो का आलू चालीस रुपये तक पहुंच गया तो चालीस रुपये किलो की भिंडी अस्सी रुपये किलो बिकी। खासबात यह है कि लोग सब्जी मंडी सब्जी खरीदने के दौरान बिल्कुल भी मोलभाव नहीं किया। बस वजन बताया सब्जी ली और राशि दी। दरअसल लोग इस भय में हैं कि सब्जी मिली तो आगे समय कैसे कटेगा।

लॉकडाउन के कारण खान पान की दूसरी वस्तुओं की कीमतों में भी उछाल आ गया। 90 रुपये किलो का मूंगफली दाना 120 रुपये किलो तो साबूदाना एक किलो का दाम अस्सी रुपये से बढ़कर सौ रुपये हो गया। नागरिकों ने बताया कि दुकानदार बिना एमआरपी वाली वस्तुओं का मनमाना दाम ले रहे हैं। खानेपीने की ऐसी सामग्री जिसमें पैकेट में एमआरपी नहीं है। उसकी मनमानी कीमत वसूल की जा रही है।

सामान्य लाभ लेने की मांग
लॉकडाउन में कालाबारियों के सक्रिय होने के बाद नागरिकों ने मांग की है कि दुकानदार सामान्य लाभ ही लें। साथ ऐसे मामलों में प्रशासन को नजर रखने के साथ ही कार्रवाई की मांग की गई है।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned