एसी कोच में शराब पीकर रेलवे कर्मचारियों ने किया हंगामा, पुलिस पहुंची तो दिखाई धौंस

एसी कोच में शराब पीकर रेलवे कर्मचारियों ने किया हंगामा, पुलिस पहुंची तो दिखाई धौंस

Shiv Pratap Singh | Publish: Sep, 03 2018 12:09:36 PM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

महानगरी एक्सप्रेस के एसी कोच में शराब पीकर रेलवे कर्मचारियों ने किया हंगामा

कटनी. गाड़ी संख्या 11093 महानगरी एक्सप्रेस के बी-1 कोच में शराब पीकर हंगामा करते तीन रेलवे कर्मचारी पकड़ाए। घटना रविवार शाम मुख्य रेलवे स्टेशन की है। आरपीएफ ने तीनों कर्मचारियों का मेडिकल परीक्षण करवाकर रेलएक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया है।
जानकारी के अनुसार रेलवे की मुंबई मटुंगा वर्क शॉप में पदस्थ रेलवे कर्मचारी अनिल पांडे (28), अमित कोरी (32) व विशाल पांडे (24) मंबई से बनारस का सफर महानगरी एक्सप्रेस कर रहे थे। तीनों ने बी-१ कोच में 15, 16 व 42 नंबर बर्थ पर आरक्षण करवाया था। सफर के दौरान तीनों रेलकर्मचारी ट्रेन में ही शराब का सेवन करने लगे। इस दौरान उन्होंने ट्रेन में हंगामा भी किया। कोच कंडक्टर व यात्रियों ने शराब पीने व हंगामे करने का विरोध किया तो तीनों उनसे भी उलझने लगे। इस दौरान महिलाओं को खासी समस्या का सामना करना पड़ा। आरपीएफ निरीक्षक दिनेश सिंह ने बताया कि ट्रेन के एसी कोच में हंगामा होने व तीन लोगों द्वारा शराब पीने की सूचना कंट्रोल से मिलने पर ट्रेन को कटनी रेलवे स्टेशन में अटेंड किया गया। कोच अटेंडर की शिकायत पर तीनों कर्मचारियों को शराब के नशे में चूर पाए जाने पर ट्रेन से उतार लिया गया है। मेडिकल परीक्षण करवाते हुए तीनों के खिलाफ टे्रन में हंगामा करने पर रेलएक्ट 145 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है।


आरपीएफ को दिखाई धौंस
आरपीएफ की कार्रवाई के दौरान तीनों कर्मचारी जवानों से भी उलझ पड़े। उन्हें अपनी पहुंच और पहचान बताई। इस दौरान आरपीएफ ने तीनों को फटकार लगाते हुए दबोच लिया और थाने ले आई।

-------------------------------
महिलाओं को प्रताडि़त कर आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने वाले पतियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज
माधवनगर व बहोरीबंद पुलिस ने जांच कर की कार्रवाई


कटनी. पति द्वारा लगातार प्रताडि़त किए जाने से परेशान होकर आत्महत्या करने वाली दो महिलाओं के पति के खिलाफ पुलिस ने अपराध पंजीबद्ध किया है। आरोपियों के खिलाफ आत्महत्या के लिए दुष्प्रेरित करने की कार्रवाई की गई है। माधवनगर थाना के एसआई मृदुल बाजपेयी ने बताया कि २४ अगस्त को विमला विश्वकर्मा निवासी ग्राम ठरका ने आत्महत्या कर ली थी। मामले की जांच में यह सामने आया है कि विमला का पति फुलचंद विश्वकर्मा उसे लगातार प्रताडि़त कर रहा था। पति की प्रताडऩा से तंग आकर ही उसने आत्महत्या की थी। इसी तरह बाकल चौकी प्रभारी जीपी शुक्ला ने बताया कि 24 जुलाई को सिहुंड़ी निवासी सियाबाई लोधी ने खुद को आग लगाकार आत्महत्या कर ली थी। प्रकरण की विवेचना में सामने आया कि महिला का पति जगत लोधी शराब का आदी था और रोजाना सियाबाई के साथ मारपीट कर उसे प्रताडि़त करता था। प्रताडऩा से तंग आकर सियाबाई ने यह आत्मघाती कदम उठाया था। पुलिस ने दोनों ही मामलों में धारा 306 ताहि के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned