scriptgovernor mangubhai patel visit khandwa viksit bharat sankalp yatra news | एमपी के राज्यपाल बोले- शादी से पहले जन्मपत्री नहीं, ब्लड की कुंडली मिलाएं | Patrika News

एमपी के राज्यपाल बोले- शादी से पहले जन्मपत्री नहीं, ब्लड की कुंडली मिलाएं

locationखंडवाPublished: Jan 22, 2024 07:59:05 am

Submitted by:

Manish Gite

राज्यपाल मंगू भाई पटेल ने आदिवासी समाज को सिकल सेल एनीमिया पर किया सतर्क

governer.png

राज्यपाल मंगू भाई पटेल आदिवासी बहुल क्षेत्र में पहुंचे। उन्होंने विकसित भारत संकल्प यात्रा का शुभारंभ किया। इस दौरान राज्यपाल ने कहा कि सिकल सेल एनीमिया आनुवांशिक बीमारी है। उन्होंने आदिवासी समाज को इस रोग से सतर्क करते हुए कहा कि आदिवासी परिवार बच्चों का ब्याह करते समय जांच करें। ये बीमारी अच्छे पैसे वाले परिवार में हो तो भी ब्याह नहीं करें। राज्यपाल ने कहा बच्चों की शादी के समय जन्मपत्री नहीं ब्लड की कुंडली मिलाएं। उन्होंने कहा सिकल सेल माता-पिता से बच्चों में होता है।

राज्यपाल ने कहा कि प्रधानमंत्री सबके सहयोग से 2047 तक सिकलसेलमुक्त करने को कहा है। जांच से रोगी एवं वाहक की पहचान करें। ताकि भविष्य में इस आनुवांशिक बीमारी को जड़ से खत्म किया जा सके। मोदी देश में इसके लिए 1500 करोड़ का बजट लाए हैं। बच्चों की जांच कराकर कार्ड बनवाएं। उन्होंने लक्षण बताए कि हम सब का खून गोला है। सिकल सेल के खून का बूंद टेढ़ा होता है। इसमें हाथ-पैर टेढ़े हो जाते हैं। डॉक्टरों से कहा कि हर आंगनवाड़ी में बच्चों की जांच करें। फिर उनके माता-पिता की जांच करें और उनके कार्ड बनाएं।

भारत में ऐसा पहली बार, गरीबों के लिए यात्रा

कार्यक्रम की शुरुआत राष्ट्रगान से हुई। प्रधानमंत्री का संदेश देखा व सुना गया। इस दौरान राज्यपाल ने कहा कि यात्रा गरीब और वंचितों के लिए है। उन्होंने प्रधानमंत्री को संवेदनशील बताते हुए कहा कि भारत में ऐसा पहली बार है कि टाप टू से बाटम तक यानी नीचे से ऊपर तक जनजातीय समाज को स्थान मिला है। महिलाओं के लिए उज्ज्वला गैस, इलाज के लिए पांच लाख तक आयुष्मान कार्ड आदि योजनाएं शुरू की है। उन्होंने कहा कि आदिवासी बेटियां आत्मनिर्भर हो रहीं हैं। आजीविका मिशन से आदिवासी महिलाएं ट्रैक्टर खरीद कर पति को दे रहीं हैं। ऐसा कभी नहीं हुआ। राज्यपाल ने अंत में शपथ दिलाई। बैतूल सांसद दुर्गादास उईके ने कहा कि राज्यपाल द्वारा सिकल सेल एनीमिया को लेकर जो अभियान शुरू किया गया है, यह राष्ट्रव्यापी अभियान आने वाले समय में वरदान साबित होगा।

प्रदेश स्तरीय स्पोर्ट्स काम्पलेक्स बनाएंगे-मंत्री

कैबिनेट मंत्री विजय शाह ने राज्यपाल का स्वागत किया। उन्होंने कहा आदिवासियों के लिए प्रदेश स्तरीय स्पोर्ट्स काॅम्पलेक्स बनाएंगे। इससे पहले उन्होंने कहा राज्यपाल हमारे जनजातीय समाज से आते हैं। मंत्री ने कहा कि आज एक ऐसा संयोग है कि सरपंच, क्षेत्र का जपं सदस्य, जिले का उपाध्यक्ष, क्षेत्र का विधायक, सांसद, मंत्री और प्रदेश का राज्यपाल आदिवासी हैं। उन्होंने कहा कि गांव, प्रदेश ही नहीं देश की प्रथम महिला राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू भी आदिवासी हैं। जनजातीय बंधुओं का विकास तेजी से हो रहा है। मंत्री ने इसका श्रेय डॉ. आंबेडकर और प्रधानमंत्री को दिया। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री सबसे पिछड़े और गरीब को आगे बढ़ाने का काम कर रहे हैं।

मंत्री ने भेंट किया रामलला मंदिर का प्रतीक

कार्यक्रम में मंत्री विजय शाह ने बांस कला केंद्र से निर्मित रामलला का भव्य मंदिर का प्रतीक राज्यपाल मंगू भाई पटेल को भेंट की। कार्यक्रम में स्कूली छात्राओं ने गणगौर नृत्य एवं बिरसा मुंडा आदिवासी नृत्य प्रस्तुत किया, जिस पर राज्यपाल पटेल ने छात्राओं का उत्साहवर्धन किया।

ट्रेंडिंग वीडियो