इतनी बेबाकी कि मंच से कहा शिक्षित, आत्मनिर्भर जीवनसाथी चाहिए

-मंच पर यादव समाज के युवक-युवतियों ने बेबाकी से दिया परिचय
-प्रदेश अध्यक्ष ने किया सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने का आह्वान

खंडवा.
मेरा नाम दीक्षा यादव है, मैं एमए, पीजीडीसीए तक पढ़ी हुईं हूं। मैं चाहती हूं कि मेरा जीवन साथी पढ़ा-लिखा हो और आत्मनिर्भर हो। इस बेबाकी से मंच पर उपस्थित युवती ने अपना परिचय देते हुए अपनी पंसद जाहिर की। अवसर था रविवार को मप्र यादव भारुड, गारी, धनगर समाज के युवक-युवती परिचय सम्मेलन का। रामनगर जसवाड़ी रोड स्थित परिसर में आयोजित कार्यक्रम में युवक-युवतियों ने मंच पर बेबाकी से अपना परिचय दिया।
यादव, गारी, धनगर समाज द्वारा तीसरा युवक युवती परिचय सम्मेलन रविवार को किया गया। हर दो साल में होने वाले सम्मेलन में प्रदेश के पांच जिलों से समाजजन शामिल हुए। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पंधाना विधायक राम दांगोरे, पूर्व निगम अध्यक्ष अमर यादव, कैलाश हरि पटेल सहित प्रदेश से आए समाज के वरिष्ठजन उपस्थित थे। परिचय सम्मेलन में 50 से अधिक युवक-युवतियों ने अपना परिचय दिया। युवतियों ने बेबाकी से कहा कि उन्हें शिक्षित और आत्मनिर्भर जीवनसाथी चाहिए। डॉक्टर, इंजीनियर, उद्योगपति, व्यवसायी युवकों ने भी मंच से अपनी पंसद बताई।
इस अवसर पर समाज के प्रदेश अध्यक्ष सुनील यादव ने कहा कि समाज में फैली कुरीतियों को हमें मिलकर खत्म करना होगा। समाज में मृत्युभोज, पैरावनी जैसी कुरीतियों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए। हमारे परिचय सम्मेलन अब दूसरे समाज के लिए भी उदाहरण बन रहे हैं। इस तरह के सम्मेलन में विवाह योग्य युवक-युवतियों के विवाह संयोग बनते है। इससे रुपए की बचत भी होती है। कार्यक्रम में खंडवा सहित खरगोन, बड़वानी व अन्य जिलों से भी करीब 700 समाजजन शामिल हुए। कार्यक्रम का संचालन यादव समाज खंडवा जिलाध्यक्ष हेमेंद्र पटेल ने किया। आभार प्रदेश मीडिया प्रभारी भूपेंद्र यादव ने माना।

Show More
मनीष अरोड़ा Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned