दिखाया उत्साह, जताई खुशी

दिखाया उत्साह, जताई खुशी

Kali Charan kumar | Updated: 20 May 2019, 12:39:23 PM (IST) Kishangarh, Ajmer, Rajasthan, India

राजस्थान पत्रिका के अमृतं जलम् अभियान को ग्रामीणों ने सराहा
हरमाड़ा. ग्राम भोजियावास के तालाब में हुए श्रमदान पर ग्रामीणों ने प्रसन्नता जताई और कहा कि खुदाई कार्य से तालाब की हालत सुधरेगी। पिछले कई साल से बरसात कम होने के कारण भी तालाब में पानी कम आता है। ग्रामीणों का कहना है कि तालाब की साफ-सफाई और खुदाई से हालत सुधरेगी और बरसात में इसमे पानी आएगा तो जलस्तर बढ़ेगा। इससे गांव में न केवल पेयजल के लिए पानी मिल सकेगा बल्कि खेतीबाड़ी और पशुधन के लिए भी पानी का इंतजाम हो सकेगा।

पानी की व्यवस्था की
श्रमदान के दौरान ग्रामीणों ने पेयजल की व्यवस्था भी की। कई ग्रामीण महिलाओं और पुरुषों ने श्रमदान में लगे ग्रामीणों को पेयजल पिलाया। इससे ग्रामीणों का उत्साह बढ़ा और जोश-खरोश से श्रमदान किया।
5-5 तगारी फैंक कर किया श्रमदान
ग्रामीणों ने सामूहिक श्रमदान के अलावा व्यक्तिगत रूप से 5-5 तगारी अलग से मिट्टी निकाली और पाल पर डाली। श्रमदान में शामिल सभी ग्रामीणों ने अलग से तगारियां मिट्टी की निकाली।
पुरुषों ने काटी झाडिय़ां
श्रमदान में शामिल पुरुषों ने कुल्हाडिय़ों से झाडिय़ां काटी और झाडिय़ों को दूसरी ओर डाला। वहीं पहले से एकत्रित सूखी झाडिय़ों को भी जलाया। इससे तालाब में सफाई कार्य में मदद मिली।

श्रमदान से इस तालाब की हालत में सुधार आएगा। करीब पंद्रह साल पहले तालाब में पानी भरा रहता था लेकिन बाद में पानी कम आना कम हो गया और तालाब भी उपेक्षित हो गया था।
-नंदूदेवी
इस तालाब की हालत सुधारने के लिए श्रमदान बहुत जरूरी है। इससे तालाब का कायाकल्प हो सकेगा। श्रमदान से तालाब की खुदाई और सफाई से इसकी जलग्रहण क्षमता बढ़ेगी।
-भंवरीदेवी
तालाब में किए गए इस श्रमदान से इसकी जल भराव क्षमता बढ़ेगी। इस तालाब की हालात में सुधार के लिए श्रमदान जरूरी था। इससे इसकी साफ-सफाई भी हुई है। यह अच्छा कार्य है।
-पूसाराम
तालाब में श्रमदान से झाडिय़ां और मिट्टी हटाए जाने से इसकी भराव क्षमता बढ़ेगी। इससे बरसात में आने वाला पानी अधिक मात्रा में रोका जा सकेगा। इसके कायाकल्प से ग्रामीणों को लाभ मिलेगा।
-श्रवण कुमार

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned