नशीली मिठाई खिलाई, ब्लेड से सलाखें काटीं फिर तीन बांग्लादेशी फांद गए जेल की दीवार

Paritosh Dube

Publish: Jan, 14 2018 09:16:56 PM (IST)

Kolkata, West Bengal, India
नशीली मिठाई खिलाई, ब्लेड से सलाखें काटीं फिर तीन बांग्लादेशी फांद गए जेल की दीवार

अलीपुर जेल की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल- जेल के तीन सुरक्षाकर्मियों को निलंबित करने का निर्देश


कोलकाता
अलीपुर केन्द्रीय संशोधनागार से रविवार को तीन बांग्लादेशी कैदी फरार हो गए। फरार कैदियों के नाम फारुख हालदार(24) , ईमन चौधरी (25 )और फिरदौस शेख(29 ) हंै। फारुख और फिरदौस विचाराधीन जबकि ईमन सजा प्राप्त कैदी है। डकैती, लूटपाट, अपहरण, अवैध घुसपैठ और आम्र्स एक्ट समेत कई मामलों में तीनों गिरफ्तार किए गए थे। वर्ष 2013 में डकैती के आरोप में फारुख को, वर्ष 2014 में अपहरण के आरोप में ईमन चौधरी को और अवैध तरीके से घुसपैठ व डकैती सहित कई अपराधों के आरोप में वर्ष 2014 मे फिरदौस को गिरफ्तार किया गया था।

जेल सूत्रों के मुताबिक रविवार की सुबह छह बजे कैदियों की गिनती के समय पता चला कि तीन कैदी कम है। खबर पाकर कोलकाता पुलिस के आला अधिकारी डॉग स्क्वाड की टीम लेकर पहुंचे।
जांच में सामने आया है कि फरार कैदियों ने जेल की कैंटीन से जयनगर मोआ (मिठाई) लेकर उसमें नींद की दवा मिलाई। कारागार में मौजूद अन्य कैदियों के साथ वहां तैनात सुरक्षा कर्मियों को मिठाई खिलाई। सब को बेहोश कर तीनों ने हॉक्स ब्लेड की मदद से अपने सेल की रॉड काटी। जेल परिसर के दाहिनी ओर की 15 फीट ऊंची दीवार को चादर, शॉल, लकड़ी के खंभे व लोहे के पाइप का इस्तेमाल कर लांघा और फरार हो गए। जांच दल को कारागार के पास से लोहे की रॉड, हॉक्स ब्लेड वहीं जेल की दीवार के पास से शॉल, टूटी डॉली और लोहे का पाइप मिला।

लम्बे समय से ब्लेड से काट रहे थे कारागार की रॉड
प्राथमिक जांच में पता चला है कि तीनों कैदी लम्बे समय से हॉक्स ब्लेड का इस्तेमाल कर हर रोज जेल के कारागार की रॉड को धीरे-धीरे थोड़ा-थोड़ा करके काट रहे थे।

25 दिसम्बर को मिली थी शॉल
एक स्वंयसेवी संस्था की ओर से 25 दिसम्बर को कैदियों को सर्दी से बचने के लिए शॉल का वितरण किया गया था। उसी शॉल को लकड़ी और लोहे की पाइप में बांधकर दीवार फांदने में इस्तेमाल किया गया है।

जेल के पांच सुरक्षाकर्मियों पर गिरी गाज
कोलकाता पुलिस की ओर से जेल के तीन वार्डनों को निलंबित कर दिया गया है। नींद की दवा और ब्लेड कहां से आए इसकी जांच की जा रही है।

घटना के बाद से तलाशी तेज
संयुक्त पुलिस आयुक्त (मुख्यालय) सुप्रतिम सरकार ने बताया कि कोलकाता पुलिस की ओर से महानगर व आस-पास के समस्त जिले की पुलिस को तीनों कैदियों की तस्वीरें भेज दी गई हैं। पुलिस जेल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की मदद से तीनों को दबोचने में जुटी है।

विभागीय जांच के आदेश

पूरे मामले की विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं। सरकार संशोधनागारों की सुरक्षा से कोई समझौता बर्दाश्त नहीं करेगी। कर्तव्य में चूक करने वाले कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

उज्जवल विश्वास, संशोधनागर मंत्री -पश्चिम बंगाल

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned