केन्द्र ने दलितों की मौत पर ममता सरकार से मांगा रिपोर्ट

केन्द्रीय सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्री थावरचंद गहलोत ने दो दलित लोगों का रहस्यमय तरीके से फंदे से लटके हुए पाए जाने पर चिन्ता जाहिर की

By: MANOJ KUMAR SINGH

Published: 07 Jun 2018, 10:38 PM IST

केन्द्रीय सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्री ने भेजा पत्र
कोलकाता
केन्द्रीय सामाजिक न्याय मंत्रालय ने ममता बनर्जी की सरकार से पंचायत चुनाव नतीजे आने के बाद पश्चिम बंगाल में दलित लोगों की मौत के बारे में रिपोर्ट मांगा है। राज्य सरकार को भेजे गए पत्र में केन्द्रीय सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण मंत्री थावरचंद गहलोत ने हाल ही में बंगाल के पुरूलिया जिले के बलरामपुर में दो दलित लोगों का रहस्यमय तरीके से फंदे से लटके हुए पाए जाने पर चिन्ता जाहिर की है। साथ ही पत्र में उन्होंने राज्य के मुख्य सचिव से उक्त दोन दलितों की मौत के बारे में रिपोर्ट देने को कहा है। सूत्रों ने बताया कि पत्र में लिखा है कि पुरूलिया के बलरामपुर में रहस्यमय तरीके से दो दलितों के फंदे से लटका हुआ शव पाया जाना बहुत ही दु:खद और सोचनीय है। उनकी मौत कैसे और किन प्रस्थियों में हुई है, इसका रिपोर्ट भेजी जाए।
उल्लेखनीय है कि बलरामपुर में 31 मई को 20 वर्षीय त्रिलोचन महतो और दो जून को 32 वर्षीय दुलाल कुमार का शव रहस्यम तरीके से लटका हुआ पाया गया। महतो की मौत के बाद अमित शाह ने ट्वीट किया था कि बलरामपुर के पार्टी के युवा कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो की बरबरता पूर्वक हत्या किए जाने से वे बहुत ही दु:खी है। उन्हें पेड़ से लटका कर इस लिए मार दिया गया, क्यों कि उनका सिद्धान्त राज्य सरकार की ओर से प्रायोजित गुण्डों के सिद्धान्ते से अलग था। वे भाजपा के सिद्धान्त मानते थे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने भी ट्वीट कर उक्त हत्याओं को पश्चिम बंगाल के लिए शर्मशार करने वाली अमानवीय घटना बताया। उन्होंने कहा था कि बंगाल में बरबरता पूर्वक हत्या का सिलसिला जारी है। यह बंगाल के लिए लज्जा है और अमानवीय भी है। ममता बनर्जी की सरकार राज्य में कानून-व्यवस्था को बनाए रखने में पूरी तरह से विफल रही है। प्रदेश भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि पंचायत चुनाव में पुरुलिया में भाजपा को सफलता मिलने के बाद अमित शाह का वहां जाना पार्टी के लिए राजनीतिक तौर से भी बहुत ही महत्वपूर्ण है।

Show More
MANOJ KUMAR SINGH
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned