यूपी मंत्री ने लड़कियों के लिए कहा- सभी चाकू रखें और जरूरत पड़े तो कर दें वार

- मिशन शक्ति (Mission Shakti) के शुभारंभ पर पुलिस लाइन में आयोजित कार्यक्रम का दौरान दिया व्यान
- लड़कियों को सुरक्षा के लिए अपने पास धारदार हथियार चाकू रखने की कही बात
- कहा- लड़कियों को अपने साथ चाकू रखें और मार दें, भगवान सब ठीक करंगे
- भाषण देते समय 112 नम्बर भूलकर कहा 100 नम्बर

By: Abhishek Gupta

Updated: 20 Oct 2020, 02:53 PM IST

ललितपुर. प्रदेश सरकार के श्रम सेवायोजन राज्य मंत्री मनोहर लाल पंथ (Manohar Lal Panth) उर्फ़ मन्नू कोरी (Mannau Kori) ने यूपी में महिलाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराध को लेकर युवतियों की आत्मरक्षा (Self Defence) के लिए बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि लड़कियों को अपने पास चाकू रखना चाहिए और जरूरत पड़ने पर उसका इस्तेमाल कर लेना चाहिए। हालांकि उनके इस बयान को कुछ अजीबो गरीब व विवादित बता रहे हैं।

ये भी पढ़ें- बलिया गोलीकांडः भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने सुरेंद्र सिंह से की मुलाकात, दी यह सख्त हिदायत

बाकी भगवान सब ठीक कर देंगे-

सोमवार को ललितपुर में मिशन शक्ति (Mission Shakti) के अंतर्गत स्थानीय पुलिस लाइन में आयोजित एक समारोह का आयोजन किया गया था। इस दौरान सार्वजनिक मंच से उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा नारी सुरक्षा के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। कई टोल फ्री नंबर जारी किए गए हैं, जिनके माध्यम से वह अपनी सुरक्षा के संबंध में शासन प्रशासन तक अपनी बात पहुंचा सकती हैं एवं समय पर उन्हें सहायता भी मुहैया हो सकती है। इसके साथ ही लड़कियों व महिलाओं को अपने पास एक चाकू रखना चाहिए। जरूरत पड़ने पर निकाल कर उससे सामने वाले पर वार कर देना चाहिए। बाकी भगवान सब ठीक कर देंगे।

ये भी पढ़ें- मुलायम सिंह यादव के स्वास्थ्य में हो रहा सुधार, तस्वीर हो रही वायरल

डायल 112 को बताया 100-

समारोह में पुलिस महकमे के साथ-साथ कई स्वयंसेवी संस्था और आम नागरिक मौजूद थे। मंत्री अपने भाषण के दौरान पुलिस की इमरजेंसी सेवा 112 को डायल 100 कहकर संबोधित करते दिखे। जब्कि उन्हीं की सरकार ने ही 100 नंबर को बदलकर 112 कर दिया था।

जैसी ही यह बयान सोशल मीडिया के माध्यम से वायरल हुआ और लोगों तक पहुंचा दो इस बयान के बारे में तरह-तरह के वक्तव्य भी आना शुरू हो गए और बयान पर राजनीतिक प्रक्रिया भी शुरू हो गई। कानून के जानकारों ने इसे शर्मनाक और आपराधिक बयान बताया तो वहीं उसके आसपास मंडराने बाले छुटभैयाओं ने उनकी सराहना की। कानून की नजर से यदि उनके बयान को देखा जाए तो उन्होंने उकसाने का काम किया है जिससे अपराध बढ़ सकते है। लेकिन यदि समय और परिस्थिति के हिसाब से देखा जाए तो बयान की सार्थकता भी साबित होती है।

BJP
Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned